जिनेवाः अपने घर से जबरन विस्थापित किए गए लोगों की संख्या विश्वभर में बढ़ने के बीच अगले सप्ताह जिनेवा में होने वाले सम्मेलन में शरणार्थियों की मदद के नए एवं ठोस मार्ग खोजने की कोशिश की जाएगी. ‘वैश्विक शरणार्थी मंच’ का आधिकारिक आयोजन मंगलवार को होगा. इससे ठीक एक साल पहले संयुक्त राष्ट्र महासभा ने शरणार्थियों को मदद मुहैया कराने का न्यायसंगत दृष्टिकोण अपनाने के लिए एक खाके को पारित किया था.

मंगलवार को आयोजित होने वाला कार्यक्रम अपनी तरह की पहली वैश्विक बैठक होगा जिसमें केवल विभिन्न राष्ट्राध्यक्ष और मंत्री ही नहीं बल्कि कारोबार जगत के दिग्गज, मानवाधिकार कार्यकर्ता और शरणार्थी भी भाग लेंगे और अधिक कारगर सहायता मुहैया कराने के संबंध में अपने विचार साझा करेंगे.

अमेरिका ने अपने नागरिकों को दी चेतावनी, कहा- भारत के पूर्वोत्तर में न जाएं

शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र की उप उच्चायुक्त केली क्लीमेंट्स ने कहा, ‘‘हम ऐसे दशक के अंत में हैं जिसमें बड़ी संख्या में लोग विस्थापित हुए हैं.’’ उन्होंने कहा,‘‘ हमें लगता है कि देशों, अंतरराष्ट्रीय संगठनों और निजी क्षेत्रों को आगे आकर यह विचार करना चाहिए कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय शरणार्थियों की मदद के लिए कैसे बेहतर तरीके से मदद कर सकता है.’’