न्यूयॉर्क: न्यूजर्सी काउन्टी के एक वरिष्ठ कानून प्रवर्तन अधिकारी ने अमेरिका के पहले सिख अमेरिकी अटॉर्नी जनरल गुरबीर ग्रेवाल की पगड़ी को लेकर नस्ली टिप्पणी करने पर मचे हंगामे के बाद इस्तीफा दे दिया है. बता दें कि इस टिप्पणी को लेकर समूचे राज्य से निंदा हुई लेकिन सौडिनो ने शुरूआत में सिर्फ माफी मांगी थी और अपना पद छोड़ने का कोई उल्लेख नहीं किया था.

बर्जन काउन्टी शेरिफ माइकल सौडिनो के 16 जनवरी के बयान को लेकर कई ऑडियो क्लिप डाले जाने के बाद हंगामा मचा. सौडिनो और चार अंडरशेरिफ ने शुकवार को इस्तीफा दिया. यह इस्तीफा रेडियो स्टेशन डब्ल्यूएनवाईसी द्वारा रिकॉर्डिंग को जारी करने के एक दिन बाद हुआ है.

सौडिनो ने गवर्नर मर्फी की ओर से राजनैतिक दबाव के बाद इस्तीफा दे दिया. डेमोक्रैट सौडिन्हो का यह तीसरा कार्यकाल था. ऑडियो में सौडिनो को यह कहते सुना जा रहा है कि मर्फी ने पगड़ी की वजह से ग्रेवाल को नियुक्त किया. सौडिनो ने ग्रेवाल का मर्फी द्वारा चयन किए जाने पर कहा, ”उन्होंने बर्जन काउन्टी की वजह से ऐसा नहीं किया, बल्कि पगड़ी की वजह से किया.” ग्रेवाल उस वक्त बर्जन काउन्टी के अभियोजक थे.

ग्रेवाल ने इस्तीफे को बर्जन काउन्टी के शेरिफ के कार्यालय और विभिन्न समुदाय, जिनकी यह सेवा करता है उसके बीच संबंधों में सुधार के लिए इसे पहला कदम बताया. उन्होंने कहा, ”लेकिन हमारा काम वहीं नहीं रुकता. यह तथ्य कि एक शीर्ष अधिकारी अफ्रीकी अमेरिकी समुदाय के बारे में नस्ली टिप्पणी कर सकता है और कमरे में कोई भी उसे चुनौती नहीं देगा या उन्हें दुरुस्त करेगा, यह गंभीर चिंता पैदा करता है.”