इस्लामाबाद: पाकिस्तान के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डॉ. आरिफ अलवी का भारत के साथ एक दिलचस्प संबंध है. सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) ने बताया है कि अलवी के पिता भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के दंत चिकित्सक थे. अलवी (69) पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी सहयोगी हैं और पीटीआई के संस्थापक सदस्यों में से एक हैं. उन्हें मंगलवार को पाकिस्तान का राष्ट्रपति चुना गया. Also Read - अफगानिस्तान में कार्यरत भारतीय पेशेवरों को निशाना बना रहा है पाकिस्तान : भारत

Also Read - कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट का भारत ने उठाया फायदा, 5,000 करोड़ रुपये की कर डाली बचत

पाकिस्तान चुनाव 2018 का जनरल नॉलेज, जानें सब कुछ Also Read - चीन के उकसावे का जवाब! लद्दाख में उड़ान भरेंगे भारत के राफेल लड़ाकू विमान

पूर्व दंत चिकित्सक अलवी ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के उम्मीदवार ऐतजाज अहसन और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-एन के उम्मीदवार मौलाना फजल उर रहमान को त्रिकोणीय मुकाबले में मात दी और देश के 13वें राष्ट्रपति चुने गए. नेहरू के दंत चिकित्सक का बेटा होने के अलावा अलवी का भारत से और भी संबंध है. वह एक और ऐसे राष्ट्रपति हैं जिनका परिवार विभाजन के बाद भारत से पाकिस्तान गया था. उनके पूर्ववर्ती ममनून हुसैन का परिवार आगरा से यहां आया था, जबकि परवेज मुशर्रफ के माता-पिता नई दिल्ली से यहां आए थे.

पाकिस्तान की इन महिला नेताओं की खूबसूरती और ग्लैमर अभिनेत्रियों पर भी भारी

सत्तारूढ़ पीटीआई की वेबसाइट पर नए राष्ट्रपति की लघु जीवनी मौजूद है जिसमें बताया गया है कि अलवी के पिता डॉ. हबीब उर रहमान इलाही अलवी विभाजन से पहले तक नेहरू के दंत चिकित्सक थे. वेबसाइट के मुताबिक, ‘डॉ. इलाही अलवी जवाहरलाल नेहरू के दंत चिकित्सक थे और परिवार के पास डॉ. अलवी को लिखे नेहरू के पत्र हैं. डॉ. आरिफ उर रहमान अलवी का जन्म कराची में वर्ष 1949 में हुआ था जहां उनके पिता विभाजन के बाद बसे थे.