नई दिल्ली| भारत, अमेरिका सहित कई देश जिस हाफिज सईद को आतंकवादी मानते हैं उसे पाकिस्तान  बेगुनाह करार दिया साथ ही हाफिज के सम्मान में साहब शब्द का प्रयोग भी किया. पाक पीएम शाहिद खाकान अब्बासी ने कहा कि पाकिस्तान में कोई केस हाफिज सईद साहब के खिलाफ नहीं है, इसलिए उनके खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं की जा सकती है. अब्बासी ने यह बात पाकिस्तान के न्यूज चैनल को दिए एक इंटरव्यू में कही हैं. Also Read - हाफिज सईद कहे जाने पर भड़के इरफान पठान ; कहा- कितनी गिर गई है हमारी मानसिकता

इंटरव्यू में यह भी कहा है कि 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं है और इसके बिना किसी के भी खिलाफ कोई भी कार्रवाई नहीं की जा सकती है. अब्बासी ने कहा कि अगर किसी के खिलाफ कोई केस दर्ज होता है तभी उसके खिलाफ कोई कार्रवाई की जाती है.

राष्ट्रपति चुनाव अभियान के दौरान आतंकवाद के खिलाफ कड़ा रुख रखने वाले डोनाल्ड ट्रंप के जनवरी में पद संभालने के बाद पाकिस्तान ने सईद को नजरबंद कर दिया था जिसे 300 दिन बाद नजरबंदी से रिहा कर दिया था जिसकी अमेरिका ने कड़ी आलोचना की थी और उसकी तुरंत दोबारा गिरफ्तारी की मांग भी किया था. ऐसा ना करने पर ट्रंप ने पाकिस्तान को हाफिज सईद की रिहाई का खामियाजा भुगतने की चेतावनी देते हुए कहा था कि इससे द्विपक्षीय संबंधों को भुगतना पड़ेगा.

चुनाव लड़ने के लिए हाफिज ने बनाई पार्टी
इससे पहले नवंबर में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने दावा किया था कि भारत ने हाफिज के खिलाफ कोई सबूत नहीं उपलब्ध कराए हैं जिसके तहत पर उसे हिरासत में लिया जा सके. जमात-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद इस साल पाकिस्तान में होने वाले आम चुनाव में भी मुख्य रूप से भाग लेने वाला है इसके लिए उसने पाकिस्तान में अपनी पार्टी बनाई है.

पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने हाफिज सईद की मिल्ली मुस्लिम लीग (एमएमएल) पार्टी का निर्वाचन आयोग में राजनीतिक दल के रूप में पंजीकरण कराने का विरोध भी किया था.

अमेरिका ने जेयूडी को आतंकी संगठन बताया
अमेरिका और यूएन ने सईद के जेयूडी को आतंकी संगठन घोषित कर रखा है और आरोप है कि यह लश्कर से जुड़ा एक संगठन है. दिसंबर 2008 में सुरक्षा परिषद के संकल्प 1267 के तहत संयुक्त राष्ट्र ने सईद को व्यक्तिगत तौर पर आतंकी घोषित किया था.