न्यूयॉर्कः भारत ने एक बार फिर स्पष्ट किया है कि पाकिस्तान को लेकर उसके रुख में कोई बदलाव नहीं आया है. उसने कहा है कि पड़ोसी देश को पहले आतंकवाद को खत्म करने के लिए कदम उठाने होंगे. इस रुख में कोई बदलाव नहीं हुआ है. पाकिस्तान को यह दिखाना होगा कि वह आतंकवाद से लड़ने के लिए ठोस कदम उठा रहा है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्त रवीश कुमार ने यहां एक संवाददाताओं से विशेष बाचतीच में यह बात कही. उन्होंने कहा कि आतंकवाद को लेकर भारत की चिंताओं को पहले दूर करने की जरूरत है. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा था कि भारत अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान के साथ बातचीत से नहीं भाग रहा है, लेकिन बातचीत शुरू करने से पहले पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ ठोस कदम उठाने होंगे. लेकिन हमें नहीं दिख रहा है कि पाकिस्तान इस समस्या के समाधान के लिए कोई ठोस कदम उठा रहा है. पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ द्विपक्षीय बातचीत के दौरान यह बात कही.

मोदी-ट्रंप की बातचीत के बाद विदेश सचिव विजय गोखले ने इसकी जानकारी दी थी. गोखले के कहा था कि भारत जम्मू-कश्मीर में 30 साल से आतंकवाद झेल रहा है. गौरतलब है कि भारत लंबे समय से कहता आ रहा है कि पाकिस्तान से बातचीत शुरू करने से पहले उसे आतंकवाद के खिलाफ ठोस कदम उठाने होंगे.