सैन फ्रांसिस्को: यूं तो कुत्तों की वफादारी के न जाने कितने उदाहरण हर युग में मिलतें हैं लेकिन ताजा वाकया अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को का है जहां एक महीने पहले उत्तरी कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी भीषण आग से टूरिस्ट डेस्टिनेशन पैराडाइज सिटी और आसपास का समूचा इलाका राख हो गया था. इसे अमेरिकी इतिहास का सबसे भीषण दावानल (जंगल की आग) कहा गया. इस आग को  की संज्ञा दी गई. आग लगने के करीब एक महीने बाद इस हैरान कर देने वाले वाकये ने कुत्तों की वफादारी को फिर से साबित किया है. आग लगने के एक माह बाद जब घर की मालकिन वहां पहुंची तो ये देख कर हैरान रह गईं कि आग में सब कुछ नष्ट हो जाने के बावजूद उनका पालतू पेट ‘मेडिसिन’ अपने क्षतिग्रस्त घर की रखवाली करता रहा जो अब सिर्फ मलबे का ढेर था.

कैलिफोर्निया के जंगलों में भीषण आग: मरने वालों की संख्या बढ़ कर 80 हुई, 990 लोगों का कुछ पता नहीं

एक माह बाद लौटी मालकिन
बताया जा रहा है कि मेडिसन नाम का यह कुत्ता महीने भर उसी क्षतिग्रस्त मकान में रह कर अपने घर की रखवाली करता रहा. घर की मालकिन एंड्रिया गेलॉर्ड इस हफ्ते जब पैराडाइज सिटी स्थित अपने घर लौटीं तो अपने डॉगी को देख हैरानी के साथ-साथ भाव विह्वल हो गईं. गेलॉर्ड ने आठ नवंबर को शहर में आग लगने के बाद अपना घर छोड़ दिया था. इस भीषण आग में 27 हजार घर तबाह हो गए थे. गेलॉर्ड ने एक बचावकर्मी से अपने पेट ‘मेडिसन’ का पता लगाने का अनुरोध किया था जिसके कई दिन बाद बचावकर्मी को एनेटोलियन शेफर्ड मिक्स नस्ल का यह कुत्ता दिखाई दिया. अमेरिकी मीडिया ने भी कुत्ते की इस वफादारी को सलाम करते हुए इस खबर को प्रमुखता से छापा है.

वाशिगटन पोस्ट में छपी खबर

वाशिगटन पोस्ट में छपी खबर

 

कैलिफोर्निया के जंगलों में भीषण आग: मरने वालों की संख्या बढ़कर 65 हुई, छह सौ से ज्यादा लापता

शायला सुलिवान नाम की महिला ने गेलॉर्ड के वापस लौटने तक उसके पालतू डॉगी ‘मेडिसन’ की देखभाल की. सुलिवान बताती हैं इस दौरान डॉग  मेडिसन चिंतित दिख रहा था और उसने सबसे दूरी बना रखी थी. मेडिसन के एक भाई मिग्वेल को आग लगने के बाद एक आश्रय स्थल भेज दिया गया था, जिसे खोजने में भी सुलिवान ने गेलॉर्ड की मदद की. सुलिवान ने कहा, अगर (बचावकर्मी) उसे बचाने नहीं जाते तो मैं खुद चली जाती और मेडिसन को बचाने तक वापस नहीं लौटती.” शुक्रवार को घर वापस लौटने पर गेलॉर्ड को मेडिसन दोबारा मिल गया. इस दौरान उन्होंने मेडिसन को उसका पसंदीदा खाना भी खिलाया. गेलॉर्ड ने न्यूज स्टेशन एबीसी10 से कहा कि इतने बुरे हालात में भी मेडिसन की वफादारी और इंतजार की कल्पना करना मुश्किल है. उन्होंने कहा कि वो शायला सुलिवान की भिवशुक्रगुजार हैं उन्होंने उनके डॉग मेडिसिन का ध्यान रखा.