सियोल: उत्तर कोरिया (North Korea) ने ऑस्ट्रेलिया को परमाणु ऊर्जा से चलने वाली पनडुब्बियां (submarine deal) मुहैया कराने के अमेरिका के फैसले की आलोचना की और इस समझौते द्वारा उत्तर कोरिया की सुरक्षा प्रभावित होने की स्थिति में जवाबी कार्रवाई की चेतावनी (warned Counterinsurgency) भी दी.Also Read - T20 World Cup 2021: पहला खिताब जीतने उतरेगा Australia, कप्तान Aaron Finch बोले- हम ट्रॉफी जीतने को बेताब

सरकारी मीडिया ने सोमवार को उत्तर कोरिया विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी के हवाले से यह बात कही, जिसने अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के बीच इस समझौते को ”बेहद खतरनाक कार्रवाई” करार दिया, जो एशिया-प्रशांत में सुरक्षा संतुलन को ‘बिगाड़ देगा और हथियारों को पाने की होड़’ को बढ़ावा देगा. Also Read - T20 World Cup 2021: सनराइजर्स हैदराबाद के बाद Australia भी करेगा David Warner को नजरअंदाज? कप्तान Aaron Finch ने कही ये बात

अधिकारी ने बताया कि उत्तर कोरिया समझौते पर करीबी नजर बनाए है और अगर इसका हमारे देश की सुरक्षा पर मामूली असर भी पड़ा तो हम जवाबी कार्रवाई करेंगे. Also Read - एशेज सीरीज से पहले विल पुकोवस्की की चोट से परेशान हुए ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन

गौरतलब है कि ब्रिटेन, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया ने हिंद-प्रशांत में चीन के बढ़ते प्रभाव के बीच, रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण इस क्षेत्र के लिए एक नए त्रिपक्षीय सुरक्षा गठबंधन ‘ऑकस’ (AKUS) की पिछले सप्ताह घोषणा की थी, ताकि वे अपने साझा हितों की रक्षा कर सकें और परमाणु ऊर्जा से संचालित पनडुब्बियां हासिल करने में ऑस्ट्रेलिया की मदद करने समेत रक्षा क्षमताओं को बेहतर तरीके से साझा कर सकें. इस महत्वाकांक्षी सुरक्षा पहल की घोषणा अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने एक संयुक्त बयान में की.