सियोल: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और नॉर्थ कोरिया के प्रमुख किम जोंग उन के बीच होने वाली प्रस्तावित बातचीत खतरे में पड़ती दिखाई दे रही है. खबरों के मुताबिक गुरुवार को नॉर्थ कोरिया ने धमकी दी कि वो अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और अपने नेता किम जोंग उन के बीच होने वाली प्रस्तावित वार्ता को रद्द कर सकता है. फॉक्स न्यूज के मुताबिक साउथ कोरिया में ऐसी खबरें चल रही हैं कि नॉर्थ कोरिया का आरोप है कि अमेरिका अभी भी नॉर्थ कोरिया के खिलाफ गैरकानूनी और अपमानजनक काम कर रहा है और अगर अमेरिका अपनी हरकतों से बाज नहीं आता तो नॉर्थ कोरिया अमेरिका के साथ प्रस्तावित वार्ता से पीछे हट सकता है.

ट्रंप ने भी दिए थे संकेत
इस बहुप्रतीक्षित मुलाकात के बारे में बुधवार को ट्रंप ने कहा था कि नॉर्थ कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ प्रस्तावित बातचीत पर फैसला अगले हफ्ते होगा. पत्रकारों से बातचीत करते हुए ट्रंप ने कहा, ”सिंगापुर के बारे में हमें अगले हफ्ते तक ही पता चल पाएगा.” बता दें कि ट्रंप और किम जोंग की प्रस्तावित मुलाकात सिंगापुर में होनी है.

इससे पहले मंगलवार को भी ट्रंप ने कहा था कि कोरियन देशों की आपसी असहमतियों की वजह से हमारे बीच प्रस्तावित वार्ता में देरी हो सकती है. खबरों के मुताबिक अगले कुछ दिनों में अमेरिकी अधिकारी दोनों नेताओं की मुलाकात के सिलसिले में नॉर्थ कोरिया के अधिकारियों से मुलाकात कर सकते हैं.

नॉर्थ कोरिया की परेशानी
नॉर्थ कोरिया ने 18 मई को अमेरिका से प्रस्तावित वार्ता को यह कहकर रद्द करने की धमकी दी थी कि अमेरिका साउथ कोरिया के साथ मिलिट्री अभ्यास कर रहा है. इसी वजह से नॉर्थ कोरिया ने साउथ कोरिया के साथ भी अपनी प्रस्तावित वार्ता रद्द कर दी थी. नॉर्थ कोरिया और साउथ कोरिया के बीच ये प्रस्तावित वार्ता पनमुनजोम के ट्रयूस गांव में डिमिलिट्रीलाइज्ड जोन में होनी थी.

इस बैठक का मकसद पिछले महीने हुए कोरियन समिट के बारे में चर्चा करना था. नॉर्थ कोरिया की मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक अमेरिका और साउथ कोरिया की वायुसेना के बीच चल रहे संयुक्त सैन्य अभ्यास ‘मैक्स थंडर’ की वजह से दोनों कोरियन देशों के रिश्तों पर असर पड़ा है.

(इनपुट: एजेंसी)