सियोल: उत्तर कोरिया ने अपने परमाणु परीक्षण स्थलों को नष्ट करना शुरू कर दिया है. 27 अप्रैल को अंतर-कोरियाई शिखर बैठक के बाद उत्तर कोरिया ने इसे नष्ट करने का संकल्प लिया था. समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, 38 नार्थ वेबसाइट की रपट में कहा गया है, “सात मई से उपग्रह से प्राप्त चित्र ने पहला निश्चित प्रमाण प्रदान किया, जिसमें परीक्षण स्थल को नष्ट करने का कार्य सुचारु रूप से चलते हुए दिखाया गया है.” Also Read - Kim Jong Un Cruel Decision: फिर सामने आई किम जोंग उन की क्रूरता, कोरोना के नियम तोड़ने पर नागरिक को गोलियों से भुनवाया

वेबसाइट ने उपग्रह की तस्वीरों का विश्लेषण किया और उसे साइट पर प्रकाशित किया है. प्योंगयांग ने घोषणा की थी वह सार्वजनिक रूप से अपने पुंग्ये-री परमाणु परीक्षण केंद्र को 23 से 25 मई के बीच नष्ट कर देगा. शिखर बैठक के दौरान प्योंगयांग ने प्रायद्वीप को पूर्ण रूप से परमाणु मुक्त करने के लिए कार्य करने का संकल्प लिया था और जल्द ही अपने हथियारों का परीक्षण रोकने का वादा किया था. Also Read - कोरोना के डर से किम जोंग उन ने लगवाया बिना अप्रूवल वाला चाइनीज टीका, कई दिनों से हैं 'गायब'

बता दें कि पिछले दिनों उत्तर कोरिया ने कहा था कि  23 से 25 मई के बीच अपने परमाणु परीक्षण स्थलों को नष्ट करेगा.प्योंगयांग ने कहा कि वह अपने सभी परमाणु परीक्षण स्थलों की सुरंगों में विस्फोट करेगा. इन परमाणु परीक्षण स्थलों को नष्ट करने की प्रक्रिया में सभी प्रवेश द्वारों को बंद कर दिया जाएगा, वहां से सभी तरह के शोध सामानों को हटाया जाएगा और परमाणु स्थल के आसपास के क्षेत्र को भी पूरी तरह से बंद किया जाएगा. उत्तर कोरिया के इस कदम का उल्लेख करते हुए ट्रंप ने ट्वीट कर कहा कि उत्तर कोरिया ने 12 जून को बैठक से पहले अपने परमाणु परीक्षण स्थलों को नष्ट करने की योजना बनाई है. गौरतलब है कि ट्रंप और किम जोंग के बीच 12 जून को सिगापुर में बैठक होगी. Also Read - भाषण के दौरान भावुक हुए नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन, जनता से मांगी माफी

(इनपुट-एजेंसी)