नई दिल्ली: कई दिनों की लुका छिपी के बाद नार्थ कोरिया (North Korea) का तानाशाह एक बार फिर से दुनिया के सामने आ गया है लेकिन इस बार उसके आने पर कई तरह के सवाल भी खड़े हो गए हैं. सबसे बड़ा सवाल लोग यही कह रहे है कि आखिर किम जोंग उन (Kim Jong Un) इतने दिनों तक कहां था और फिर एक उर्वरक फैक्ट्री के उद्घाटन के लिए उसका अचानक सबके सामने आ जाना थोड़ा अजीब सा लगता है. अब कई मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है किम जोंग उन एक दीमागी बीमारी से ग्रसित है. रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि किम जोंग उन फोकल डिस्टोनिया (focal dystonia disease) से ग्रसित है.Also Read - चीन और उत्तर कोरिया की सैन्य गतिविधियों ने बढ़ाई चिंता, जापान ने भी बढ़ाया रक्षा बजट

कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि किम जब से दोबारा दुनिया के सामने आया है तब से उसके बर्ताव में काफी कुछ परिवर्तन देखने को मिला है. किम अपने काम में शरीर के बाएं अंग को कम प्रयोग में ला रहा है जिसकी कारण अंदाजा लगाया जा रहा है कि उसके शरीर के बाई तरफ कुछ समस्या है. हो सकता है कि वह फोकल डिस्टोनिया नामक बीमारी से ग्रसित हो. इस बीमारी में मनुष्य का मस्तिष्क एक अंग विशेष को कमांड देना बंद कर देता है या फिर कम संदेश प्रेषित कर पाता है. Also Read - North Korea: तानाशाही के कारण भुखमरी की कगार पर पहुंचा उत्तर कोरिया, पहले कभी नहीं हुआ था ऐसा

हालांकि इस बीमारी के बारे में यह भी कहा जा रहा है कि इससे मनुष्य की जान को किसी भी तरह का खतरा नहीं है. एक व्यक्ति इस बीमारी के साथ लंबे समय तक जीवित रह सकता है इसलिए नॉर्थ कोरिया के तानाशाह को चिंता करने की जरूरत नहीं है. Also Read - Submarine Deal Issue: उत्‍तर कोरिया ने अमेरिका को दी जवाबी कार्रवाई की चेतावनी

बता दें कि किम का स्वास्थ इन दिनों काफी खराब है. हाल ही में तानाशाह ने अपनी हार्ट की सर्जरी कराई है और उसी के बाद से वह कई दिनों तक दुनिया की नजरों से गायब रहा. कुछ रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि किम जोंग उन कोरोना वायरस से भी पीड़ित है लेकिन नॉर्थ कोरिया लगातार इस बात को कहता रहा है कि उसके देश में कोविड-19 का एक भी केस नहीं है.