Norway Bow-and-arrow attack: नार्वे के एक छोटे कस्बे में तीर कमान से हमला कर पांच लोगों की जान लेने एवं दो अन्य को घायल करने के आरोप में हिरासत में लिये गये डेनमार्क के एक निवासी को पूर्व में कट्टरपंथी के तौर चिह्नित किया गया था. वह धर्म परिवर्तित कर मुसलमान बना था. पुलिस ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. पुलिस ने बताया कि संदिग्ध व्यक्ति ने कोंग्सबर्ग के विभिन्न इलाकों में बुधवार शाम को तीर कमान से हमला किया था, जिसमें पांच लोग मारे गये थे जबकि दो अन्य घायल हो गये थे. इनमें से कई पीड़ित सुपर मार्केट में थे.Also Read - इस देश को इस्लाम का दुश्मन भी मानते हैं तालिबानी, फायदे की बजाय दोस्ती के हैं नुकसान!

पुलिस प्रमुख ओले बी सावेरुड ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘पहले भी इस व्यक्ति के कट्टरपंथी होने को लेकर चिंता व्यक्त की गई थी.’’ उन्होंने बताया हमले में मारी गई चार महिलाओं और एक पुरुष की आयु 50 से 70 वर्ष के बीच थी. अधिकारियों का मानना है कि हमलावर ने मौके पर पुलिस के पहुंचने तक लोगों को मारना शुरू नहीं किया था. Also Read - अजमेर दरगाह के आध्यात्मिक प्रमुख ने कहा- अफगानिस्तान क्रूर लोगों के हाथों में, तालिबान का समर्थन गलत

सावेरुड ने कहा, ‘‘अब हम जानते हैं और तार्किक रूप से स्पष्ट है कि कुछ या संभवत: सभी पुलिस द्वारा हमलावर के संपर्क में आने के बाद मारे गए.’’ जांच का नेतृत्व कर रही पुलिस अटॉर्नी एन इरेन स्वाने मैथिएसन ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद संदिग्ध शांत था और स्पष्ट जवाब दे रहा था. उसने कहा, ‘‘मैने यह किया.’’ उन्होंने एसोसिएटेड प्रेस को बताया, ‘‘वह शांति से बात कर रहा था और उसने घटना की पूरी जानकारी दी. उसने पांच लोगों की हत्या करने की बात स्वीकार की.’’ Also Read - बिहार के मंत्री के बयान पर VHP नेता ने कहा,- भारत के 95% मुसलमानों के पूर्वज हिंदू हैं

अधिकारियों ने बताया कि हमले में घायल दो पीड़ितों को गहन चिकित्सा इकाई में भर्ती कराया गया है जिनमें से एक स्टोर में तैनात पुलिस अधिकारी है. उनकी स्थिति की तत्काल जानकारी नहीं मिल सकी. नवनियुक्त प्रधानमंत्री जोनास गहर स्टोरे ने हमले को ‘भयावह’ करार दिया है. उन्होंने कहा, ‘‘यह अवास्तविक है लेकिन यह सच्चाई है कि पांच लोग मारे गए हैं और कई घायल हुए हैं जबकि कई सदमे में हैं.’’

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतेरम ने ट्वीट किया, ‘‘नर्वे से आ रही दर्दनाक खबर से स्तब्ध और दुखी हुं.’’ गौरतलब है कि नार्वे की राजधानी ओस्लो से 66 किलोमीटर दूर कोंग्सबर्ग एक छोटा कस्बा है जिसकी आबादी महज 26 हजार है.

(इनपुट भाषा)