इस्लामाबाद: पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को देश के प्रधानमंत्री इमरान खान की बहन अलीमा खानम को एक सप्ताह के भीतर 2,940 करोड़ रुपये कर और जुर्माने के रूप में जमा कराने का आदेश दिया. अदालत ने विदेश में संपत्ति रखने के एक मामले में यह कार्रवाई की है.Also Read - इस देश में 30 रुपये में बिक रहा एक अंडा, 1000 रुपये अदरक, चीनी-गेहूं भी बना रहे रिकॉर्ड

Also Read - कोरोना काल में 29 खिलाड़ियों संग इंग्लैंड का दौरा करेगी पाक क्रिकेट टीम, PM इमरान खान ने दी हरी झंडी

संयुक्त अरब अमीरात में संपत्ति रखने वाले राजनीतिक रसूख वाले 44 व्यक्तियों के खिलाफ एक मामले की सुनवाई के दौरान तीन न्यायाधीशों की पीठ ने कहा कि खानम अगर अदालत के फैसले का सम्मान नहीं करती हैं तो उनकी संपत्ति कुर्क कर ली जाएगी. Also Read - Coronavirus in Pakistan: कोरोना के 2,818 मामले दर्ज, मृतक संख्या 41 पहुंची, इमरान खान ने बढ़ते खतरे को लेकर कही ये बात 

पीओके के मंत्री की मौजूदगी का विरोध, भारतीय राजनयिक SAARC की मीटिंग छोड़कर बाहर निकले

फेडरल बोर्ड ऑफ रेवेन्यू (एफबीआर) ने अदालत से कहा कि खानम पर 2,940 करोड़ रुपये का जुर्माना और कर लगाया गया है. उनकी पहचान संपत्ति के बेनामीदार मालिक के रूप में हुई है.

पाकिस्तान को चीन का कर्ज चुकाने के लिए ना दी जाए IMF से वित्तीय मदद: अमेरिका

अपने अधिवक्ता के साथ अदालत में पेश हुईं खानम ने अदालत को बताया कि उन्होंने 2008 में 3,70,000 डॉलर में संपत्ति खरीदी थी, जिसे उन्होंने 2017 में बेच दिया था. इससे पहले की सुनवाई में एफबीआर ने अदालत को खानम की संपत्ति और कर का ब्योरा दिया था.