इस्लामाबाद: सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर पाकिस्तान के गृह मंत्रालय ने देश के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी और उनकी बहन फरयाल तालपुर का नाम बुधवार को एग्जिट कंट्रोल लिस्ट (ईसीएल) में डाल दिया है, अब दोनों देश छोड़कर नहीं जा सकेंगे. जरदारी और उनकी बहन कथित रूप से 35 अरब पाकिस्तानी रुपये के धन शोधन मामले में लिप्त रहे हैं.

गौरतलब है कि यह कार्रवाई देश में 25 जुलाई को होने वाले आम चुनावों से पहले हुई है. डॉन अखबार की खबर के अनुसार, फर्जी खातों और कई मुख्य बैंकों के माध्यम से अरबों रुपये का फर्जी लेन – देन करने के मामले में जांच के सिलसिले में सुप्रीम कोर्ट ने गृह मंत्रालय को यह निर्देश दिये थे.

इन फर्जी खातों का कथित रूप से प्रयोग रिश्वत और अन्य अवैध माध्यमों से मिले धन को छुपाने के लिए किया गया. जरदारी और फरयाल सहित कुल सात लोग इस मामले में आरोपी हैं.

(इनपुट: एजेंसी)