नई दिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन का कहना है कि पाकिस्तान ने सभी आतंकी संगठनों से दृढ़ता से निपटने और भारत के साथ तनाव कम करने के लिए कदम उठाने का अमेरिका को आश्वासन दिया है. बोल्टन ने ट्वीट में कहा कि उन्हें यह आश्वासन पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने दिया है. उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान के विदेश मंत्री कुरैशी ने जैश-ए-मोहम्मद और अन्य सक्रिय आतंकवादी संगठनों के खिलाफ ठोस कदम उठाने पर बातचीत की.

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने ट्वीट किया, ‘पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने मुझे आश्वासन दिया है कि पाकिस्तान सभी आतंकवादी संगठनों से दृढ़ता से निपटेगा और भारत के साथ तनाव कम करने की दिशा में भी प्रयास जारी रखेगा. बोल्टन ने कुरैशी से बातचीत ऐसे समय की है जब भारत के विदेश सचिव विजय गोखले अमेरिका की यात्रा पर हैं.गोखले ने अपनी आधिकारिक यात्रा के पहले दिन अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ से मुलाकात की.

बैठक पर अमेरिकी विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि अमेरिका, पाकिस्तान पर दबाव बनाना जारी रखेगा. विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता रॉबर्ट पालाडिनो ने कहा, ‘ विदेश मंत्री पोम्पिओ और भारत के विदेश सचिव गोखले ने पुलवामा हमले के दोषियों को न्याय के कठघरे में लाने के महत्व और पाकिस्तान के उसकी जमीन पर सक्रिय आतंकवादी संगठनों के खिलाफ ठोस कदम उठाने की अनिवार्यता पर चर्चा की. उन्होंने कहा कि पोम्पिओ ने आश्वासन दिया कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका भारतीयों और भारत सरकार के साथ खड़ा है.

बता दें कि 14 फरवरी को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आत्मघाती आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थिति आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी. इसके बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया.

हमले के 13वें दिन भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकवादी ठिकाने पर एयर स्ट्राइक कर दिया. इस घटना के बाद पाकिस्तान ने भारतीय हवाई सीमा क्षेत्र में घुसने की कोशिश की. इस दौरान एक भारतीय पायलट पाकिस्तान की सीमा में जा गिरा जिसे पाकिस्तान ने हिरासत में ले लिया. हालांकि तीन दिन बाद ही पाकिस्ता ने कैप्टन अभिनंदन को रिहा कर दिया. इसके बाद दोनों देशों के बीच तनाव कम हुआ.

(इनपुट-भाषा)