इस्लामाबाद: अमेरिका की एक महिला ने पाकिस्तान के लोगों के दिल-दिमाग को इस समय झकझोरा हुआ है. महिला का नाम सिंथिया डी रिची (Cynthia D Ritchie) है. वह खुद को एडवंचर प्रेमी, फिल्मकार, पत्रकार और ब्लॉगर बताती हैं और इस वक्त विवाद के केंद्र में हैं. पाकिस्तान की महिला कमांडो के साथ उन्हीं जैसे काले यूनिफार्म में प्रशिक्षण ले रहीं सिंथिया अमेरिकी हैं लेकिन अभी पाकिस्तान में रहकर यहीं की रिपोर्ट दे रही हैं.Also Read - Jammu के सांबा में तीन जगहों पर संदिग्ध पाकिस्तानी ड्रोन दिखे, एक्‍शन होते ही वापस लौटे

रिची ने पाकिस्तान की पीएम रहीं दिवंगत बेनजीर भुट्टो (Benazir Bhutto) के लिए कुछ ऐसा लिखा और कहा जिसपर बवाल मच गया. दरअसल, रिची ने बेनजीर पर अपनी बात को सही ठहराने के लिए ‘इंडीसेंट कॉरसपोंडेंस: सीक्रेट सेक्स लाइफ आफ बेनजीर भुट्टो’ नाम की किताब का मुख्य पृष्ठ पोस्ट किया. रोशन मिर्जा की लिखी इस किताब में कुछ हाई प्रोफाइल पाकिस्तानी महिलाओं के सेक्सुअल एडवेंचर का उल्लेख है. रोशन मिर्जा ने इस किताब में लिखा है, कि यह महिलाएं अपनी यौन इच्छाओं की पूर्ति के लिए लड़कों का इस्तेमाल करती हैं. और आश्चर्य में डालने वाली बात यह है कि यह महिलाएं किसी सेक्सुअल लिबरल देश की नहीं बल्कि पाकिस्तान के एक राजनीतिक वंश की हैं.” Also Read - Indian Premier League 2021: आईपीएल के चलते Pakistan की फजीहत, UAE ने किया मेजबानी से साफ इनकार

इतना ही नहीं, पाकिस्तान के अन्य हाईप्रोफाइल मामलों को लेकर भी रिची अन्य खुलासे कर चुकी हैं. वह कई मंत्रियों की लड़कियों के साथ मौज मस्ती करने वाली तस्वीरें पोस्ट कर चुकी हैं. जिन पर कई लोगों ने उनकी आलोचना की और कई ने कहा कि वह सच की लड़ाई लड़ रही हैं. इसलिए समर्थन है. Also Read - Sri Lanka vs India, 2nd ODI: टीम इंडिया ने पाकिस्तान को पछाड़ा, इस मामले में बनी नंबर-1

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) ने दिवंगत बेनजीर भुट्टो के खिलाफ कथित घृणास्पद टिप्पणी के लिए रिची के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. पीपीपी के पेशावर जिला अध्यक्ष जुल्फिकार अफगानी ने ब्लॉगर के खिलाफ गुलबहार पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कराया है. यह साफ दिख रहा है कि सत्ता प्रतिष्ठान और आईएसआई रिची को प्रमुख विपक्षी दल पीपीपी के खिलाफ इस्तेमाल कर रहे हैं. पीपीपी की महिला शाखा की प्रांतीय सूचना सचिव एडवोकेट मेहर सुलताना ने पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के खिलाफ ‘घृणा से भरे और निंदनीय बयानों’ के कारण रिची को देश से निष्कासित करने की मांग की है. पीपीपी नेता ने मंगलवार को अपने बयान में कहा कि दिवंगत बेनजीर भुट्टो के खिलाफ रिची के समीक्षा लेख ने पार्टी के नेताओं, कार्यकर्ताओं और समर्थकों में तीव्र आक्रोश फैला दिया है.

डॉन ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि बीते हफ्ते उस वक्त सनसनी फैल गई जब पीपीपी ने पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के खिलाफ ‘घृणा से भरी बदनाम करने वाली टिप्पणियों’ के लिए रिची के खिलाफ संघीय जांच एजेंसी की साइबर अपराध शाखा में शिकायत दर्ज कराई. पीपीपी अधिवक्ता ने कहा कि रिची ने अपने ट्वीट में बेनजीर और उनके पति आसिफ अली जरदारी के वैवाहिक जीवन के बारे में बेहद घृणास्पद और निंदनीय टिप्पणियां की हैं.