वाशिंगटन: व्हाइट हाउस का कहना है कि न्यूयार्क में आयोजित एक भोज के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के साथ केवल हाथ मिलाया था. हालांकि, कुरैशी ने दावा किया कि दोनों नेताओं के बीच ‘अनौपचारिक भेंट’ हुई जिसमें उन्होंने द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा की. यह घटना मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक से इतर दोपहर में आयोजित एक भोज के दौरान हुई.

पाकिस्तानी मीडिया से एक अधिकारिक साक्षात्कार के दौरान कुरैशी ने उसे ट्रंप के साथ एक ‘अनौपचारिक मुलाकात’ बताते हुए कहा कि दोनों के बीच द्विपक्षीय संबंधों से जुड़े मुद्दों पर चर्चा हुई. कुरैशी ने पाकिस्तान टेलीविजन से कहा, ‘मैंने स्वागत भोज में राष्ट्रपति ट्रंप से मुलाकात की जहां मेरे पास उनके साथ पाकिस्तान-अमेरिका संबंधों पर चर्चा करने का अवसर था. मैंने उनसे अतीत की तरह दोबारा दोनों देशों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंध विकसित करने का अनुरोध किया.’

पीटीवी की रिपोर्ट का हवाला देते हुये डॉन और पाकिस्तान ट्रिब्यून सहित कई मीडिया संगठनों ने ‘अनौपचारिक मुलाकात’ की खबर प्रकाशित की है. सरकारी संवाद एजेंसी एसोसिएट प्रेस पाकिस्तान के मुताबिक, कुरैशी को ट्रंप से एक ‘सकारात्मक प्रतिक्रिया’ मिली. ट्रंप ने कहा कि वे द्विपक्षीय संबंधों का ‘‘पुनर्निर्माण’’ करना चाहते हैं. हालांकि, व्हाइट हाउस का कहना है कि दोपहर के भोज के दौरान दोनों नेताओं ने सिर्फ हाथ मिलाया था.

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के एक प्रवक्ता ने ‘पीटीआई’ को बताया, ‘‘अन्य विश्व नेताओं के साथ दोपहर के एक भोज के दौरान दोनों ने सिर्फ हाथ मिलाये थे.’’ ट्रंप के कार्यक्रम पर नजर रखने वाले सूत्रों ने न्यूयार्क में ‘पीटीआई’ को पुष्टि किया कि ट्रंप का कुरैशी के साथ कोई बैठक नहीं हुई थी और इसकी कभी कोई योजना निर्धारित नहीं थी.