लाहौर: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज को धन शोधन के मामले में बृहस्पतिवार को उस समय गिरफ्तार कर लिया गया जब वह जेल में बंद अपने पिता से मिलने आई थीं. एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) की उपाध्यक्ष 45 वर्षीय मरियम से 31 जुलाई को भी कथित धनशोधन और उनकी व परिवार की आय से अधिक संपत्ति को लेकर भ्रष्टाचार रोधी एजेंसी के अधिकारियों ने पूछताछ की थी. राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने मरियम को लाहौर की कोट लखपत जेल से गिरफ्तार किया.

 

यहां उनके पिता 24 दिसंबर, 2018 से सात साल जेल की सजा काट रहे हैं. शरीफ को पनापा पेपर्स मामलों से जुड़े भ्रष्टाचार के तीन में से एक मामले में शीर्ष अदालत द्वारा 28 जुलाई 2017 को दोषी ठहराया गया. राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) के अधिकारी ने बताया कि चौधरी शुगर मिल्स (सीएमएस) मामले में धनशोधन और आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति के आरोपों का सामना कर रही मरियम को हमने गिरफ्तार किया है. उन्होंने बताया कि मरियम को एनएबी मुख्यालय ले जाया जा रहा है.

डॉन की खबर के मुताबिक मरियम को सीएसएम मामले में प्रश्नों के जवाब देने को कहा गया था और स्थानीय समय के अनुसार उन्हें बृहस्पतिवार दोपहर तीन बजे तक जवाब देना था. लेकिन एनएबी अधिकारी जेल पहुंचे और उन्हें हिरासत में ले लिया. एनएबी के अनुसार मरियम ने बृहस्पतिवार को जवाबदेही ब्यूरो के समक्ष पेश नहीं होने के लिए माफी मांगी और वह अपने पिता से मिलने जेल चली गईं. अब उन्हें एनएबी मुख्यालय ले जाया जा रहा है. उनकी यह गिरफ्तारी ऐसे समय में हुई है जब एक दिन पहले ही उन्होंने प्रधानमंत्री इमरान खान को ‘कश्मीर की स्थिति’ के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए उनके खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की थी.