इस्लामाबाद: पाकिस्तान सरकार और देश के शीर्ष नेताओं ने भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उन्होंने दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध में ‘बदलाव’ लाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया और विकास के लिए क्षेत्रीय सहयोग का वह लगातार समर्थन करते रहे. Also Read - लेह अस्पताल में जहां जवानों से मिले पीएम मोदी उसको लेकर उठे सवाल, सेना ने की सबकी बोलती बंद

Also Read - 'सेवा ही संगठन' कार्यक्रम में बोले पीएम मोदी- तारीफ के हकदार हैं बिहार के भाजपा कार्यकर्ता

पाकिस्तान के भावी प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि भारत-पाकिस्तान के बीच शांति बहाली के लिए उनके प्रयासों को हमेशा याद रखा जाएगा. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैजल ने बताया कि हमें पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की दुखभरी खबर मिली है. उन्होंने एक बयान में कहा कि वाजपेयी एक लोकप्रिय नेता थे जिन्होंने भारत-पाकिस्तान के संबंधों में बदलाव लाने में योगदान दिया और विकास के लिए दक्षेस और क्षेत्रीय सहयोग के महत्वपूर्ण समर्थक बने रहे.’ Also Read - चीनी ऐप बैन के बाद पीएम मोदी का अगला कदम, ऐप बनाने के लिए युवाओं को दिया खास चैलेंज

अटल बिहारी वाजपेयी के जाने से पड़ोसी देश भी दुखी, इस तरह प्रकट की संवेदना

इमरान खान आज लेंगे शपथ

क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान आज संभवत: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं. उन्होंने एक बयान में कहा कि वाजपेयी इस उपमहाद्वीप के महत्वपूर्ण राजनीतिक छवि वाले नेता थे और उनके निधन ने एक बड़ा शून्य पैदा कर दिया है. पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के प्रमुख खान ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के संबंधों में सुधार के लिए वाजपेयी के प्रयास को हमेशा याद किया जाएगा. पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल-एन) के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ ने कहा कि वाजपेयी और पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने दोनों देश के बीच अमन बहाली के लिए गंभीर प्रयास किए. (इनपुट एजेंसी)