दुबई: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को यूएई में सिखों के पवित्र धर्म स्थल करतार साहिब को सिखों का मक्का-मदीना बताते हुए कहा कि उनके मुल्क (पाकिस्तान) में सिखों का अत्यंत पवित्र स्थान हैं और देश अल्पसंख्यक समुदाय के लिए उन स्थलों को खोल रहा है. खान ने पिछले साल नवंबर में पाकिस्तान के करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत के गुरुदासपुर जिले में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारा से जोड़ने वाले गलियारे की नींव रखी थी. दरबार साहिब में सिख पंथ के संस्थापक गुरु नानक देव ने अपना अंतिम वक्त बिताया था. Also Read - पाकिस्तान में मचा सियासी घमासान- आमने सामने आई सेना और पुलिस, छुट्टी पर चले गए अधिकारी

Also Read - पाक पर मंडराया ब्लैक लिस्ट होने का खतरा, इमरान खान को हुई चिंता

पीएम इमरान ने कहा- अपनी गरीबी खत्म करने के लिए चीन के नक्शेकदम पर चलेगा पाकिस्तान Also Read - पाकिस्तान पर मंडरा रहा एफएटीएफ की ब्लैक लिस्ट का खतरा, इमरान की घबराहट बढ़ी

पहली बार 70  देशों को ‘Visa on Arrival’

खान यूएई के उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम के निमंत्रण पर वर्ल्ड गवर्नमेंट समिट के सातवें संस्करण में भाग लेने के लिये संयुक्त अरब अमीरात की एक दिन की यात्रा पर आए थे. यहां पर अपने संबोधन में पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम इमरान खान ने कहा, ‘‘ हमारे पास सिखों का मक्का-मदीना है (पवित्र स्थल है) और हम सिखों के लिए उन स्थलों को खोल रहे हैं.’’ पाकिस्तान के प्रधानमंत्री खान ने कहा कि हमने पर्यटकों और श्रद्धालुओं के लिए अपनी वीजा व्यवस्था को खोल दिया है. पहली बार 70 देशों के लोग पाकिस्तान आकर हवाई अड्डे से (Visa on Arrival) वीजा ले सकते हैं. (इनपुट एजेंसी)

हिना ने पाकिस्तान को दिखाया आईना, कहा- अमेरिका से कटोरा लेकर भीख मांगने की बजाय भारत से रिश्ते करे मजबूत