इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने शुक्रवार को कश्मीरी जनता के साथ ‘एकजुटता’ दिखाने के लिए ‘कश्मीर ऑवर’ मनाया. जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के भारत के फैसले की पृष्ठभूमि में पाकिस्तान ने यह कदम उठाया है. शुक्रवार दोपहर को जैसे ही घड़ी की दोनों सुइयां 12 के अंक पर पहुंचीं, देशभर में सायरन बजने लगे और इस्लामाबाद की सभी सड़कों पर यातायात सिगनल लाल हो गये. मुख्य आयोजन इस्लामाबाद के कांस्टीट्यूशन एवेन्यू में आयोजित किया गया जहां प्रधानमंत्री इमरान खान ने झंडा लहरा रही और नारेबाजी कर रही भीड़ को संबोधित किया.

VIDEO: पाकिस्‍तान के मंत्री ने दी गीदड़ भभकी, भारत के साथ अक्टूबर-नवंबर में होगा फुल वॉर

इमरान खान ने कहा, ‘‘आज पूरा पाकिस्तान, जहां भी पाकिस्तानी हैं, चाहे वे हमारे छात्र हों, दुकानदार हों या मजदूर हों, आज हम सभी हमारे कश्मीरियों के साथ खड़े हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे कश्मीरी मुश्किल दौर से गुजर रहे हैं. पिछले करीब चार सप्ताह से करीब 80 लाख कश्मीरियों को कर्फ्यू में बंद कर दिया गया है.’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘कश्मीर ऑवर’ मनाने का उद्देश्य पाकिस्तान से यह संदेश भेजना है कि देश कश्मीरियों के साथ खड़ा रहेगा.

पाकिस्तान गठित करेगा ‘कश्मीर मीडिया सेल’, कहा- घाटी के जमीनी हालात पता करना होगा उद्देश्य

पाकिस्तान के पीएम ने कहा, ‘‘हम आखिरी सांस तक उनके साथ खड़े रहेंगे.’’ ऐवान-ए-सद्र में आयोजित एक और कार्यक्रम में राष्ट्रपति आरिफ अलवी ने लोगों को संबोधित किया. इन कार्यक्रमों में शिक्षण संस्थान, सरकारी और निजी दफ्तर, बैंक, व्यापारी, वकील और सैन्य संस्थान भाग ले रहे हैं. भारत ने अगस्त की शुरूआत में जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त कर दिया था और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांट दिया था. इसके बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है.