लाहौर: पाकिस्तान द्वारा शुक्रवार को उड़ानों का परिचालन आंशिक रूप से बहाल करने दुनिया भर में हजारों विमान यात्रियों ने राहत की सांस ली. भारत के साथ बढ़ते तनाव के चलते पिछले तीन दिन पहले पाकिस्तान का हवाई क्षेत्र बंद कर दिया गया था जिसके चलते 700 से ज्यादा उड़ाने प्रभावित हुईं. (सीएए) ने घोषणा की कि इस्लामाबाद, कराची, पेशावर और क्वेटा हवाई अड्डों पर शुक्रवार को उड़ान परिचालन बहाल कर दिया गया है. लेकिन पूर्वी हिस्से के लाहौर, मुल्तान, सियालकोट, फैसलाबाद और बहावलपुर के हवाई अड्डे चार मार्च तक बंद रहेंगे.

पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र बंद करने से दुनियाभर के हजारों यात्री एयरपोर्ट पर फंसे


हवाई क्षेत्र बंद होने से दुनियाभर में हजारों विमान यात्री फंस गये क्योंकि पिछले तीन दिनों में देश में आने-जाने वाली 700 से अधिक अंतरराष्ट्रीय एवं घरेलू उड़ानें रद्द कर दी गयीं. उनमें दिल्ली की उड़ानें भी थीं. बुधवार को लाहौर हवाई अड्डे पर चार भारतीय यात्री भी फंसे थे. सीएए ने कहा कि हवाई क्षेत्र वाणिज्यिक उड़ानों के लिए खोल दिए गए हैं लेकिन पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन इन हवाई अड्डों से शनिवार सुबह से अपना परिचालन शुरू करेगी.

भारत-पाक तनाव का असर, चीन ने पाकिस्तान से आने-जाने वाली सभी उड़ानें की रद्द

भारत के साथ बढ़ते तनाव के चलते पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र को बंद करने से यूरोप और दक्षिण पूर्व एशिया के महत्वपूर्ण हवाई मार्गों पर प्रभाव पड़ा. एयर इंडिया, जेट एयरवेज, कतर एयरवेज और सिंगापुर एयरलाइंस जैसी विभिन्न एयरलाइनों ने बुधवार को घोषणा की थी कि वे अपनी उड़ानों का मार्ग बदल रही हैं क्योंकि पाकिस्तान ने अपना हवाई क्षेत्र बंद कर दिया है.