Pakistan News: पाकिस्तान के विपक्षी दलों ने बुधवार को प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) पर 10 लाख डॉलर की महंगी घड़ी समेत अन्य देशों के प्रमुखों से मिले उपहारों को बेचने का आरोप लगाया. देश के दौरे के दौरान राष्ट्र प्रमुखों या संवैधानिक पदों पर बैठे अधिकारियों के बीच उपहारों का आदान-प्रदान नियमित रूप से होता है. गिफ्ट डिपॉजिटरी (तोशाखाना) के नियमों के अनुसार, ये उपहार तब तक राज्य की संपत्ति रहते हैं, जब तक कि उन्हें खुली नीलामी में बेचा नहीं जाता.Also Read - Omicron: कोरोना का दिख रहा नया रंग-यूरोप में पांच से 14 साल तक के बच्चे ओमिक्रॉन से ज्यादा संक्रमित

‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ अखबार ने बताया कि नियम अधिकारियों को बिना कुछ भुगतान किए 10,000 रुपये से कम के बाजार मूल्य के उपहार रखने की अनुमति देते हैं. अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी तथा पीएमएल-एन की उपाध्यक्ष मरियम नवाज ने उर्दू में ट्वीट किया, ‘इमरान खान ने दूसरे देशों से मिले उपहारों को बेच दिया है. खलीफा हजरत उमर (पैगंबर मुहम्मद के साथी) अपनी कमीज और बागे के लिए जवाबदेह थे और दूसरी तरफ, आप (इमरान खान) ने तोशाखाना से विदेशी उपहार लूटे और आप मदीना स्थापित करने की बात कर रहे हैं? कोई व्यक्ति (खान) कैसे इतना असंवेदनशील, बहरा, गूंगा और अंधा हो सकता है?’ Also Read - World News in Hindi: UAE ने लिया ऐतिहासिक निर्णय, वर्क वीक को घटाकर किया 4.5 दिन | विश्व में पहला देश होने का दावा

विपक्षी गठबंधन – पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) – के अध्यक्ष मौलाना फजलुर रहमान ने कहा कि ऐसी खबरें हैं कि प्रधान मंत्री खान ने एक राजकुमार से प्राप्त एक कीमती घड़ी बेच दी है. उन्होंने कहा, ‘यह शर्मनाक है.’ Also Read - Omicron Update: पाकिस्तान ने 'ओमिक्रॉन' के खतरों के बीच इन 15 देशों से यात्रा पर लगाई पाबंदी

सोशल मीडिया पर ऐसी खबरें चल रही हैं कि खान को एक खाड़ी देश के एक राजकुमार ने 10 लाख डॉलर की घड़ी भेंट की थी. इस घड़ी को कथित तौर पर दुबई में खान के करीबी सहयोगी ने बेचकर प्रधानमंत्री को 10 लाख डॉलर दिए गए थे. राजकुमार कथित तौर पर खान को उपहार में दी गई घड़ी की बिक्री के बारे में जानता है.

पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) पंजाब के अध्यक्ष राणा सनाउल्लाह ने बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि अन्य देशों के प्रमुखों से प्रधानमंत्री को मिले उपहारों की कथित बिक्री के कारण पाकिस्तान को बदनाम किया गया है.

(इनपुट: भाषा)