लाहौर: पाकिस्तान ने सोमवार को तीन महीने से अधिक समय बाद करतारपुर गलियारे को फिर से खोल दिया. इस गलियारे को कोविड-19 महामारी के कारण अस्थायी रूप से बंद कर दिया गया था. एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी दी. अधिकारी ने बताया कि लेकिन कोई भी भारतीय तीर्थयात्री गुरुद्वारा दरबार साहिब नहीं आया.Also Read - पाकिस्तान ने अब लाहौर में बढ़ते प्रदूषण के लिए भी भारत को जिम्मेदार ठहराया

भारत ने कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर पाकिस्तान में करतारपुर साहिब गुरुद्वारा के लिए यात्रा और पंजीकरण को अस्थायी रूप से स्थगित किया हुआ है. इवैक्यूई ट्रस्ट प्रॉपर्टी बोर्ड (ईटीपीबी) के उपनिदेशक इमरान खान ने बताया, ‘‘पाकिस्तान ने करतारपुर गलियारे को आज फिर से खोल दिया. हालांकि किसी भी भारतीय तीर्थयात्री ने यात्रा नहीं की.’’ उन्होंने बताया कि गुरुद्वारा दरबार साहिब, करतारपुर में ‘‘विशेष अरदास’’ की गई. Also Read - आजादी के 75 साल में पहली बार पाकिस्‍तान से तीर्थयात्र‍ी PIA की स्‍पेशल फ्लाइट से पहुंचेंगे भारत

उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान और भारत के श्रद्धालुओं को सामाजिक दूरी बनाये रखने के नियमों का पालन करते हुए दरबार साहिब जाने की अनुमति दी गई है. ईटीपीबी और पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए विशेष प्रबंध किये है.’’ इससे पूर्व विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि पाकिस्तान सिख श्रद्धालुओं के लिए करतारपुर साहिब गलियारे को फिर से खोल रहा है. करतारपुर साहिब गुरुद्वारा पाकिस्तान के नारोवल जिले में स्थित है. Also Read - Republic Day 2022: भारत-पाकिस्तान सीमा पर BSF जवान 'हाई-अलर्ट' पर

(इनपुट भाषा)