इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने यहां भारतीय उच्चायोग के एक वरिष्ठ राजनयिक को विदेश मंत्रालय में तलब कर कहा कि गुरुद्वारा दरबार साहिब में एक मॉडल के सिर ढंके बिना फोटोशूट कराने का मामला एक ‘अलग-थलग घटना’ थी. बता दें कि भारत ने मंगलवार को नयी दिल्ली में पाकिस्तान उच्चायोग के प्रभारी को तलब किया था और करतारपुर के गुरुद्वारा दरबार साहिब में पाकिस्तानी मॉडल सौलेहा के फोटोशूट पर अपनी गहरी चिंता व्यक्त करते हुए इसे पवित्र स्थान की गरिमा का ‘अनादर’ बताया था.Also Read - Punjab ke CM: बंटवारे के समय पाकिस्तान में रुके और फिर भारत आकर पंजाब के मुख्यमंत्री बने भीम सेन सच्चर

गुरुद्वारा दरबार साहिब में सौलेहा के कपड़ों के एक पाकिस्तानी ब्रांड के लिए ‘‘बिना सिर ढंकने वाले’’ फोटोशूट ने सोमवार को सोशल मीडिया पर हलचल मचा दी क्योंकि कई लोगों ने उन पर सिख समुदाय की धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाया. मॉडल ने बाद में अपने इंस्टाग्राम पेज से अपनी तस्वीरें हटा दीं और माफी मांगी. Also Read - T20 World Cup 2022 Full schedule: फिर होगी भारत-पाकिस्तान के बीच 'हाई वोल्टेज भिड़ंत', यहां जानिए पूरा शेड्यूल

विदेश कार्यालय ने एक बयान में कहा कि भारतीय उच्चायोग के एक वरिष्ठ राजनयिक को विदेश मंत्रालय में तलब किया गया और कहा गया कि यह ‘‘गुरुद्वारा दरबार साहिब में एक व्यक्ति से जुड़ी अलग-थलग घटना थी.’’ Also Read - Pakistan Blast: लाहौर के अनारकली बाजार में धमाका, 3 की मौत 20 से ज्यादा घायल

बयान में कहा गया है, ‘‘भारतीय राजनयिक को बताया गया कि घटना से तेजी से निपटा गया और रुख स्पष्ट किया गया.’’ बयान में कहा गया है कि पाकिस्तान अल्पसंख्यकों के अधिकारों को सर्वोच्च प्राथमिकता देता है और पाकिस्तान में हर समुदाय के धार्मिक स्थलों और उपासना स्थलों की मर्यादा सुनिश्चित की जाती है. विदेश कार्यालय ने कहा कि भारतीय अधिकारियों को अपने देश के अल्पसंख्यकों और पूजा स्थलों की पवित्रता नष्ट करने, घृणा अपराधों और भीड़ द्वारा पीट-पीटकर मार डाले जाने की घटनाओं से प्रभावी सुरक्षा सुनिश्चित करने पर ध्यान देना चाहिए.