इस्लामाबाद: संघर्ष विराम के उल्लंघन से बाज नहीं आ रहे पाकिस्तान ने गुरुवार को भारतीय सेना पर नागरिक ठिकानों पर निशाना बनाने का आरोप लगाते हुए भारत के उप उच्चायोग जेपी सिंह को तलब किया. दरअसल, नियंत्रण रेखा पर भारतीय सुरक्षा बलों और पाकिस्तानी सेना के बीच फायरिंग हो रही है. पाकिस्तान ने आरोप लगाया है कि संघर्षविराम उल्लंघन में पाकिस्तान के एक आम नागरिक की मौत हो गई है. ये मारी गए एक महिला है.

पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा पर भारतीय बलों द्वारा कथित संघर्षविराम उल्लंघन की निंदा करते हुए भारत के उपउच्चायुक्त सिंह को तलब किया. आरोप है कि संघर्षविराम उल्लंघन में पाकिस्तान के एक आम नागरिक की मौत हो गई. विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि महानिदेशक (दक्षिण एशिया एवं दक्षेस) मोहम्मद फैसल ने मंडल सेक्टर में संघर्षविराम उल्लंघन पर सिंह को तलब किया.

इस गोलीबारी में घासला गांव में 35 साल की एक महिला की मौत हो गई. फैसल ने कहा, ”नियंत्रण रेखा और कामकाजी सीमा पर भारतीय बल भारी हथियारों से लगातार आम नागरिकों वाले क्षेत्रों को निशाना बना रहे हैं.” उन्होंने कहा कि 2018 में भारतीय बलों ने नियंत्रण रेखा और कामकाजी सीमा पर 1400 बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया, जिसमें 30 आम नागरिक मारे गए जबकि 121 अन्य घायल हुए.

महानिदेशक ने भारतीय पक्ष से 2003 संघर्षविराम व्यवस्था का सम्मान करने, संघर्षविराम उल्लंघनों की घटनाओं की जांच करने का अनुरोध किया और भारतीय बलों को ऩियंत्रण रेखा तथा कामकाजी सीमा पर शांति कायम रखने को कहा.