कराची: पाकिस्तान के सिंध प्रांत में एक मंदिर में तोड़फोड़ के आरोप में चार लड़कों को गिरफ्तार किया गया है. एक हिंदू मंत्री ने नाबालिग लड़कों पर ईशनिंदा का आरोप लगाने की मांग की है. मंगलवार को मीडिया में आई एक रिपोर्ट में यह कहा गया.

डॉन अखबार ने पुलिस अधिकारियों के हवाले से कहा कि गिरफ्तार किए गए लड़कों की उम्र 15 वर्ष, 13 वर्ष, 13 वर्ष और 12 वर्ष है. उन्होंने अपराध स्वीकार कर लिया है और कहा है कि उन्होंने मंदिर से पैसा चुराने के लिए ऐसा किया था. सिंध प्रांत के थार में छाछरो शहर के निकट एक गांव में माता देवल भिट्टानी मंदिर में कुछ अज्ञात लोगों ने रविवार रात तोड़फोड़ की थी. उन्होंने भगवान की मूर्तियों का अपमान किया था.

थार के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अब्दुल्ला अहमदयार के निर्देश पर सोमवार को एक प्राथमिकी दर्ज की गई. रिपोर्ट में कहा गया कि छाछरो के रहने वाले चारों लड़को को उपासना स्थल पर तोड़फोड़ के आरोप में सोमवार को गिरफ्तार किया गया. इस बीच सिंध प्रांत के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री हरि राम किशोरी लाल ने पुलिस से कहा है कि वह आरोपियों के खिलाफ ईशनिंदा का मामला दर्ज करे.