इस्लामाबाद: पाकिस्तान में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए पड़ोसी देश अफगानिस्तान से लगी अंतरराष्ट्रीय सीमा को स्थानीय सरकार सोमवार से सात दिनों के लिए बंद करेगी. आंतरिक मामलों के मंत्रालय ने रविवार को यह जानकारी दी. यह घोषणा पाकिस्तान में कोरोना वायरस के दो नये मामले सामने आने के एक दिन बाद हुई है. इससे देश में वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ कर चार हो गयी है. Also Read - Complete Lockdown In India! थम नहीं रहा कोरोना का कहर, क्या संपूर्ण लॉकडाउन है विकल्प? सरकार ने भी दिये संकेत- क्या कहते हैं आंकड़े

आंतरिक मामलों के मंत्रालय ने बयान जारी कर बताया कि लोगों के हितों को देखते हुए दोनों देशों में कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए बलूचितस्तान के चमन में अंतरराष्ट्रीय सीमा दो मार्च से सात दिनों के लिए बंद रहेगी. बयान में कहा गया है, ‘‘इस अवधि में दोनों देशों के लोगों के स्वास्थ्य की सुरक्षा करने के लिए आवश्यक कदम उठाये जायेंगे. Also Read - Video: हवा में उड़ते ही निकला एयर एंबुलेंस का पहिया, फिर ऐसे हुई लैंडिंग; सभी सुरक्षित

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबरों में कहा गया है कि अधिकारियों ने कराची समेत दक्षिणी सिंध प्रांत तथा दक्षिण पश्चिम बलूचितस्तान प्रांत के स्कूलों को बंद कर दिया गया है. कराची में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था. Also Read - Coronavirus: देश में कब थमेगा कोरोना का कहर? जानें क्या कहते हैं विशेषज्ञ....

अधिकारियों ने बताया कि हाल ही में ईरान से लौटे आठ हजार श्रद्धालुओं का पता लगाने की शुरूआत की गयी है. बुधवार को कराची में एक युवक कोरोनो वायरस से संक्रमित पाया गया जो पाकिस्तान में पहला पुष्ट मामला है. इसके कुछ ही देर बाद दूसरे मामले की पुष्टि हुई. ये दोनों ईरान से वापस लौटे हैं.

पाकिस्तान ने गुरूवार को ईरान जाने वाले विमानों के परिचालन पर रोक लगा दी थी. ईरान चीन के बाद कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित मुल्क है. पाकिस्तान ईरान के साथ अपने रेल एवं सड़क संपर्क खत्म कर चुका है. चीन के बाहर ईरान में कोरोना वायरस से सबसे अधिक मौत हुई है. यहां मरने वालों की संख्या 43 है जबकि इससे संक्रमित लोगों की संख्या 593 हो चुकी है.

कोरोना वायरस का पता सबसे पहले पिछले साल दिसंबर में चीन के वुहान में चला. चीन में अब तक इससे 2870 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि करीब 80 हजार संक्रमित हैं.

(इनपुुट आईएएनएस)