इस्लामाबाद: पाकिस्तान 2022 में चीन की मदद से अपने पहले व्यक्ति को अंतरिक्ष में भेजेगा. इसकी घोषणा गुरुवार को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री फवाद चौधरी ने की. चौधरी ने ट्विटर पर लिखा कि पहले पाकिस्तानी को अंतरिक्ष में भेजने की चयन प्रक्रिया फरवरी 2020 से शुरू होगी. उन्होंने लिखा, “पचास लोगों को शॉर्टलिस्ट किया जाएगा. इसके बाद यह सूची 25 पर आ जाएगी और 2022 में हम अपने पहले व्यक्ति को अंतरिक्ष में भेज देंगे.” उन्होंने इसे अपने इतिहास की सबसे बड़ी अंतरिक्ष घटना करार दिया. Also Read - चीन में मोबाइल इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या 100 करोड़ के करीब, 1 खरब 65 अरब GB डेटा हुआ इस्तेमाल

डॉन के मुताबिक, चौधरी ने कहा कि वायु सेना चयन प्रक्रिया का संरक्षक होगा और दुनियाभर के पायलटों को इस अंतरिक्ष मिशन के लिए चुना जाएगा. मंत्री ने कहा कि शुरू में 50 पायलटों का चयन किया जाएगा, जिसमें से सूची को 25 तक लाया जाएगा. इसके बाद चयनित 10 पायलटों को प्रशिक्षित किया जाएगा और अंतत: एक पायलट को अंतरिक्ष में भेजा जाएगा. Also Read - मलाला यूसुफजई ने कहा- भारत और पाकिस्तान को अच्छे दोस्त बनते देखना मेरा सपना, लोग शांति चाहते हैं

रिपोर्ट के अनुसार, चौधरी ने कहा चूंकि उनके देश के पास खुद की सैटेलाइट लॉन्चिंग सुविधा नहीं है, इसलिए वह चीन की मदद से अंतरिक्ष का रास्ता तय करेगा. उन्होंने बताया कि चीन व पाकिस्तान के बीच समझौते के तहत यह प्रक्रिया अमल में लाई जाएगी. Also Read - FATF Grey List: Imran Khan को फिर लगा झटका, FATF की 'ग्रे लिस्ट' में बना रहेगा पाकिस्तान