कराची: रिकार्ड स्तर की महंगाई से पहले ही से जूझ रही पाकिस्तानी अवाम को अभी इसके कई झटके और लगेंगे. यह चेतावनी पाकिस्तान स्टेट बैंक के गर्वनर ने दी है और लोगों से सब्र से काम लेने को कहा है. पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, स्टेट बैंक आफ पाकिस्तान के गवर्नर डॉक्टर रजा बाकर ने एक कार्यक्रम में कहा कि महंगाई के और झटके अभी लग सकते हैं. इसके लिए लोग तैयार रहें और सब्र व धैर्य से काम लें.

उन्होंने कहा कि हम सभी चाहते हैं कि महंगाई कम हो. यह कुछ समय बाद कम हो भी जाएगी लेकिन समस्याएं इतनी बड़ी और अधिक हैं कि इन्हें हल करने में समय लगेगा. स्टेट बैंक के गवर्नर ने कहा, “हमारी स्थिति गंभीर थी. हम दिवालिया भी हो सकते थे. ऐसे में अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए हमें कई कड़े फैसले करने पड़े. अब स्थिति बेहतर हो रही है.”

भारत में राफेल आने पर बढ़ी पाकिस्तान की बेचैनी, अब सुरक्षा के दावे की दे रहा दुहाई

उन्होंने कहा कि 2015 तक पाकिस्तान का व्यापार घाटा शून्य था लेकिन 2016 के बाद से हालात बिगड़ने शुरू हो गए. विदेशी मुद्रा का भंडार 2015 में 18 अरब डॉलर का था. 2016 से व्यापार घाटे के बढ़ने और विनिमय दर संयोजन नहीं होने से विदेशी मुद्रा का भंडार कम होने लगा. फिर वो दिन भी आया जब दोस्त देशों ने भी हाथ खींच लिया और बाध्य होकर कर्ज के लिए अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के पास जाना पड़ा जिसके लिए कड़ी शर्तो को मानने के लिए बाध्य होना पड़ा.

(इनपुट आईएएनएस)