इस्लामाबाद. पाकिस्तानी सेना ने भारत को सीमा पार किसी भी ‘दुस्साहस’ की स्थिति में जवाब के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी है. उसने कहा है कि किसी को भी देश के सैन्य बलों की क्षमता को कमतर नहीं आंकना चाहिए. सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘अगर भारत किसी भी दुस्साहस का प्रयास करता है तो उसका जवाब दिया जाएगा.’ Also Read - कश्मीर में भारत 22 अक्टूबर को मनाएगा 'काला दिवस', 1947 में पाकिस्तान ने घाटी में कराई थी हिंसा

गफूर ने कहा, भारत द्वारा अचानक हमले की स्थिति में तैयारियों के बारे में सवाल का जवाब दे रहे थे. उन्होंने कहा, ‘किसी को भारत की तुलना में हमारी क्षमता को कमतर नहीं आंकना चाहिए. भारत से किसी तरह के हमले की सूरत में हमारी जवाबी क्षमता पूरी तरह से तैयार है.’ Also Read - LAC पर तनातनी के बीच भारतीय सेना ने चीन को उसका सैनिक लौटाया, लद्दाख बॉर्डर के पास पकड़ा गया था

गफूर ने भारत पर नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी में साल 2018 में 30 पाकिस्तानी नागरिकों की हत्या का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तान ने क्षेत्र में शांति के लिए सकारात्मक भूमिका निभाई है. भारत अफगानिस्तान या नियंत्रण रेखा के जरिए पाकिस्तान में अस्थिरता बढाता है तो यह भारत के सर्वश्रेष्ठ हित में भी नहीं होगा.’ Also Read - Hyderabad Rain Updates: हैदराबाद में बारिश से हालात खराब, स्टैंडबाय पर रखी गईं सेना की राहत टीमें

एक सवाल के जवाब में प्रवक्ता ने कहा कि भारत के राजनयिकों को 23 मार्च को अन्य देशों के राजनयिकों के साथ पाकिस्तान दिवस परेड के लिए आमंत्रित किया गया था. उन्होंने कहा, ‘हम दुनिया को दिखाना चाहते थे कि वे जो हमारे राजनयिकों के साथ कर रहे हैं उसके बावजूद हमने उन्हें ( भारतीयों) बुलाया. हम उन्हें अपनी क्षमता और संकल्प भी दिखाना चाहते थे.’