इस्लामाबाद: जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर कई कूटनीतिक प्रयासों के असफल होने के बाद पाकिस्तान ने मंगलवार को कहा कि वह इस मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) में लेकर जाएगा. पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एआरवाई न्यूज टीवी को बताया, “हमने कश्मीर मामले को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में ले जाने का फैसला किया है.” उन्होंने कहा, “सभी कानूनी पहलुओं पर विचार करने के बाद यह निर्णय लिया गया है.”

पाकिस्तान का यह कदम अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा दिए गए बयान के बाद आया है. ट्रंप ने मोदी और इमरान खान को अपने दो दोस्त बताते हुए कश्मीर मुद्दे पर तनाव कम करने का आह्वान किया था. इसके साथ ही ट्रंप ने इमरान को जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर भारत के खिलाफ बयानबाजी पर संयम बरतने की नसीहत भी दी थी. सोमवार को एक ट्वीट में ट्रंप ने कहा, “मेरे दो अच्छे दोस्तों प्रधानमंत्री मोदी और प्रधानमंत्री इमरान खान से व्यापार, रणनीतिक साझेदारी और सबसे खास कश्मीर में तनाव कम करने को लेकर बात हुई है. स्थिति कठिन है, लेकिन अच्छी बात हुई है.”

विंग कमांडर अभिनंदन को जिस पाकिस्तानी कमांडो ने पकड़ा था, भारतीय सेना ने उसे मार गिराया

सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने भी कश्मीर स्थिति पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ बात की है. दोनों नेताओं ने कई मुद्दों पर चर्चा की, जिसमें मौजूदा कश्मीर संकट भी शामिल है. पाकिस्तानी मीडिया की खबरों के अनुसार, खान ने सऊदी प्रिंस को जम्मू एवं कश्मीर की स्थिति के बारे में जानकारी दी है. इमरान खान ने हालांकि इस संबंध में मुस्लिम बहुसंख्यक देशों सहित करीब हर देश के नेता को फोन किया है, मगर बावजूद इसके चीन को छोड़कर किसी भी देश ने उसका समर्थन नहीं किया है.

इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की सूचना और प्रसारण मामलों पर विशेष सहायक डॉ. फिरदौस आशिक अवान ने कहा कि पाकिस्तान कश्मीर मामले को हर मंच पर उठाता रहेगा. फिरदौस ने श्रंखलाबद्ध ट्वीट में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की बैठक में भारत अधिकृत कश्मीर और इस मुद्दे पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सुलह वाली भूमिका पर बात की. फिरदौस ने ट्वीट में कहा, “हम हर मंच पर भारत द्वारा कश्मीर में किए जा रहे अन्याय को लेकर आवाज उठाते रहेंगे. हर जगह भारत को आईना दिखाने का काम पाकिस्तान करेगा. कश्मीर के आजाद होने तक उसे हर प्रकार की सहायता प्रदान करते रहेंगे.”

पीएम मोदी से बातचीत के बाद ट्रंप ने लगाई फटकार- कश्मीर मुद्दे पर संभलकर बयानबाजी करें इमरान खान

अवान ने कहा, “भारत ने कहा कि कश्मीर उसका आंतरिक मामला है, लेकिन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में इस बात को नहीं माना गया. भारत एकतरफा चाल चल के दुनिया को बेवकूफ नहीं बना सकता है.” फिरदौस ने क्षेत्र में शांति स्थापित करने के लिए कश्मीर मुद्दे पर अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप की मध्यस्ता का स्वागत किया. फिरदौस ने कहा, “प्रधानमंत्री इमरान खान ने कश्मीर मुद्दे को जिस तरह से अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर रखा है, उससे पूरे देश को उन पर गर्व है. अंतर्राष्ट्रीय समुदाय भारत अधिकृत कश्मीर पर संज्ञान ले चुका है और साथ ही उसकी एकतरफा कार्रवाई पर चिंता भी व्यक्त कर चुका है.”

रेहम खान ने कहा- नरेंद्र मोदी को खुश करने में जुटे हैं पाकिस्तान के पीएम, किया कश्मीर का सौदा