लाहौरः पाकिस्तान में दो नाबालिग हिंदू लड़कियों का कथित रूप से निकाह करवाने वाले मौलवी को रविवार गिरफ्तार कर लिया गया. खबरों के मुताबिक इन नाबालिग हिंदू लड़कियों का अपहरण के बाद जबरन धर्म परिवर्तन करा दिया गया था. पाकिस्तानी मीडिया में आई खबर के अनुसार इन नाबालिग लड़कियों ने पंजाब प्रांत की एक अदालत से सुरक्षा की गुहार लगाई है. Also Read - नागरिकता विधेयक: दिल्ली में रह रहे पाकिस्तानी हिंदुओं ने जलाए पटाखे, बेटी का नाम रखा 'नागरिकता'

मीडिया में इस मामले के सामने आने के बाद विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायुक्त से रिपोर्ट मांगी थी. इसके बाद रविवार को भारत ने पाकिस्तान को ‘नोट वर्बल’ जारी करके घटना को लेकर अपनी चिंता साझा की और अल्पसंख्यक समुदायों के लोगों की रक्षा और उनकी सुरक्षा एवं कल्याण को बढ़ावा देने के लिए उचित कदम उठाने का आह्वान किया. Also Read - नागरिकता संशोधन विधेयक राज्यसभा में पास, जैसलमेर में पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थियों ने मनाया जश्न

जियो न्यूज की उर्दू वेबसाइट जंग.कॉम के मुताबिक किशोरियों ने पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में बहावलपुर की अदालत में सुरक्षा के लिए गुहार लगाई है. इसमें कहा गया कि निकाह करवाने वाले मौलवी को सिंध में खानपुर से गिरफ्तार किया गया. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं. 13 वर्षीय रवीना और 15 वर्षीय रीना का इलाके के दंबगों ने घोटकी जिले स्थित उनके घर से कथित रूप से अपहरण कर लिया था. Also Read - भोजपुरी के पाठकों के लिए विशेषः पाकिस्तान के गरियाईं, रोज मुर्दाबादी नारा लगाईं बाकि तनि इहो जान लीं

(इनपुट भाषा)