आजादी के 75 साल में पहली बार पाकिस्‍तान से तीर्थयात्र‍ी PIA की स्‍पेशल फ्लाइट से पहुंचेंगे भारत

आजादी के 75 साल में पहली बार पाकिस्‍तानी तीर्थयात्र‍ी विशेष उड़ान से भारत की यात्रा पर आ रहे हैं, इससे पहले पहले तीर्थयात्री पैदल या समझौता एक्सप्रेस के जरिए एक-दूसरे के देशों में जाते थे

Updated Date:January 25, 2022 7:19 PM IST

By India.com Hindi News Desk

Advertisement

इस्‍लामाबाद: आजादी के 75 साल में पहली बार पाकिस्‍तान से तीर्थयात्र‍ी पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) की विशेष उड़ान से भारत की यात्रा पर आ रहे हैं. बता दें कि इससे पहले पहले तीर्थयात्री पैदल या समझौता एक्सप्रेस के जरिए एक-दूसरे के देशों में जाते थे. यह तब हो रहा है, जब जनवरी की शुरुआत में पाकिस्तान में भारतीय पर्यटकों के पाकिस्‍तान आने के बाद, पाकिस्तानी पर्यटक भी 75 साल में पहली बार पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) की विशेष उड़ान से 29 जनवरी को भारत के लिए उड़ान भरेंगे. पहले तीर्थयात्री पैदल या समझौता एक्सप्रेस के जरिए एक-दूसरे के देशों में जाते थे. पाकिस्‍तान की नेशनल असेंबली के सदस्‍य और अध्यक्ष पाकिस्तान हिंदू परिषद रमेश कुमार के अनुसार, दोनों पड़ोसी देशों के बीच धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए पीआईए और एयर इंडिया के बीच एक समझौता हुआ था.

Advertising
Advertising

समझौते के अनुसार, दोनों एयरलाइंस इस संबंध में विशेष उड़ानें संचालित करेंगी. पाकिस्तानी पर्यटकों का एक समूह 29 जनवरी को लाहौर हवाईअड्डे से रवाना होगा और एक फरवरी को लौटेगा. तीन दिवसीय यात्रा के दौरान, समूह अजमेर शरीफ, जयपुर, आगरा, मिथरा, हरिद्वार में सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती की दरगाह और दिल्ली में हजरत निजामुद्दीन औलिया की दरगाह का दौरा करेगा.

पाकिस्तान की सत्ताधारी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के एक हिंदू सांसद ने सोमवार को कहा कि वह इस हफ्ते के अंत तक तीर्थयात्रियों के प्रतिनिधिमंडल के साथ भारत की यात्रा करेंगे. पाकिस्तान हिंदू परिषद के प्रमुख और नेशनल असेंबली के सदस्य डॉ. रमेश कुमार वंकवानी ने एक बयान जारी करके कहा कि प्रतिनिधि मंडल 29 जनवरी को भारत जाएगा. उन्होंने बताया कि प्रतिनिधिमंडल पाकिस्तान एयरलाइंस इंटरनेशनल (पीआईए) के एक विशेष चार्टर्ड विमान से जाएगा और भारत में तीन दिन तक रुकेगा.

Also Read

More Hindi-news News

भारत में प्रतिनिधिमंडल दिल्ली में निजामुद्दीन औलिया की दरगाह, अजमेर स्थित ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह और ताज महल देखने जाएगा. वंकवानी ने कहा, ''पाकिस्तानी तीर्थयात्री पीआईए की उड़ान से विभिन्न स्थलों पर जाएंगे, जबकि भारतीय तीर्थयात्री एयर इंडिया की उड़ान से पाकिस्तान आएंगे.'' सांसद ने कहा कि धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए एयर इंडिया की उड़ान का संचालन नई दिल्ली से पेशावर के बीच 20 फरवरी को किया जाएगा. भारतीय तीर्थयात्री पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत स्थित श्री परमहंस जी महाराज की समाधि और टेरी मंदिर जाएंगे.

Advertisement

पाकिस्तान की सत्ताधारी तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के हिंदू सांसद ने कहा कि दोनों देशों के बीच मासिक आधार पर हवाई उड़ानों का संचालन शुरू किया गया है. उन्होंने उम्मीद जताई कि धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने से दोनों देशों के लोग करीब आ सकते हैं. सांसद डॉ. रमेश कुमार वंकवानी ने कहा कि भारत और खाड़ी देशों के हिंदू तीर्थयात्री एक जनवरी को दुबई से अमीरात एयरलाइंस की फ्लाइट से श्री परमहंसजी महाराज की समाधि के दर्शन के लिए पेशावर पहुंचे थे.

भारतीय तीर्थयात्रियों को ऐन वक्त पर भारतीय अधिकारियों द्वारा पीआईए की उड़ान में यात्रा करने की अनुमति नहीं दी गई, जिसके बाद उन्हें वाघा सीमा के माध्यम से पाकिस्तान लाया गया था. उन्होंने कहा कि भारतीय तीर्थयात्रियों का एक और प्रतिनिधिमंडल एक मार्च को बलूचिस्तान में हिंगलाज माता मंदिर और अन्य ऐतिहासिक पवित्र स्थलों की तीर्थयात्रा के लिए एयर इंडिया की उड़ान से कराची पहुंचेगा.

डॉ रमेश ने कहा कि यात्रा पर प्रत्येक तीर्थयात्री को 1,500 डॉलर खर्च करने होंगे और अगर वे आगरा और दिल्ली में रहने के दौरान अलग कमरा चाहते हैं तो अतिरिक्त 200 डॉलर भी लिए जाएंगे. पाकिस्तान और भारत के बीच 1974 में हुए एक समझौते के अनुसार, तीर्थयात्री दोनों देशों के धार्मिक स्थलों की यात्रा कर सकते हैं. वक्फ संपत्ति बोर्ड और धार्मिक मामलों के मंत्रालय तीर्थयात्रियों के आगमन और प्रस्थान की व्यवस्था करते हैं. (इनपुट: भाषा)

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:January 25, 2022 7:19 PM IST

Updated Date:January 25, 2022 7:19 PM IST