कराची: पाकिस्तान में एक पूर्व सांसद की गोली मारकर हत्या कर दी गई है. मुत्तहिदा कौमी मूवमेंट पाकिस्तान (एमक्यूएम-पी) के पूर्व नेता सैयद अली रजा आबिदी की अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी. इस शहर में नेताओं को निशाना बना कर होने वाले हमलों की श्रृंखला में यह ताजा घटना है. बाइक सवार दो हथियारबंद हमलावरों ने मंगलवार रात रक्षा आवास प्राधिकरण के पड़ोस खायबान-ए-गाजी स्थित उनके आवास के समीप पूर्व सांसद की कार पर गोलियां बरसाईं. आबिदी उस वक्त अपनी कार में अकेले थे. उन्हें उनके पिता तुरंत अस्पताल ले गए, जहां उनकी मौत हो गई. पुलिस ने बुधवार को उनके अंगरक्षक को गिरफ्तार किया है.

डॉन समाचार पत्र की रिपोर्ट के मुताबिक, सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि 46 वर्षीय आबिदी को पास से ही गोली मारी गई. पोस्टमार्टम जांच के मुताबिक, आबिदी को चार गोलियां लगीं, दो उनकी छाती में और एक गोली गर्दन व एक हाथ में लगी.

उद्यमी से राजनेता बने आबिदी के गार्ड कदीर को हिरासत में लिए जाने की पुष्टि करते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) पीर मोहम्मद शाह ने कहा, “गार्ड तुरंत जवाबी हमला करने के बजाए घर के भीतर भाग गया और आबिदी के पिता से हथियार मांगा ताकि गोलीबारी का जवाब दिया जा सके.” उन्होंने कहा, “उसे करीब दो महीने पहले ही आबिदी के आवास पर तैनात किया गया था.”

प्रधानमंत्री इमरान खान, राष्ट्रपति आरिफ अल्वी और अन्य ने आबिदी की हत्या की निंदा की है और उनके प्रियजनों के लिए प्रार्थना की. आबिदी को एमक्यूएम के सबसे उभरते हुए चेहरों के रूप में जाना जाता था. उन्हें बुधवार को कराची में दफनाया गया.

शाह ने कहा, “पुलिस जांच कर रही है कि यह घटना निजी विवाद का परिणाम है या फिर राजनीतिक, धार्मिक मनमुटाव के चलते अंजाम दी गई है. इलाके में लगे सीसीटीवी से मिली फुटेज में दो तीन जगहों पर संदिग्ध दिख रहे हैं.”

ट्रांसनेशनल टेररिज्म इंटेलिजेंस ग्रुप के आतंक-रोधी विभाग के प्रभारी राजा उमर खत्ताब ने कहा कि हमलावर निशाना बनाकर हत्या करने के विशेषज्ञ दिखाई पड़ रहे हैं, क्योंकि उन्होंने मात्र 10 सेकंड के समय में आबिदी को निशाना बनाया.