लाहौर: पाकिस्तान के गृहमंत्री अहसन इकबाल की आज लगातार दो सफल सर्जरी की गई. पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कल (रविवार) एक चुनावी रैली के दौरान एक धार्मिक कट्टरपंथी ने इकबाल की हत्या करने की कोशिश की. गृहमंत्री अहसन इकबाल गोली लगने से घायल हो गए. हमले के मामले में एक और संदिग्ध को हिरासत में लिया गया है. Also Read - Viral Video: पाकिस्तान में अनोखी शादी, दूल्हे को गिफ्ट में दी AK 47, लोग बोले- गरीब देश के अमीर...

पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएल..एन) के वरिष्ठ नेता इकबाल (59) को कल (रविवार) के हमले में दाहिने कंधे में गोली लगी थी. यहां सर्विसेज अस्पताल के एक अधिकारी ने कहा कि सर्जरी सफल रही और इकबाल की स्थिति में अच्छा सुधार हो रहा है. उन्होंने कहा कि इकबाल अब खतरे से बाहर हैं और उनकी हालत में तेजी से सुधार हो रहा है. इकबाल की लगातार दो सर्जरी की गई और अब उन्हें अस्पताल की गहन देखभाल इकाई ( आईसीयू ) में स्थानांतरित कर दिया गया है. अस्पताल जहां पर इकबाल की सर्जरी की गई वहां के एक अधिकारी ने पीटीआई से आज कहा कि इकबाल के पेट की लैप्रोस्कोपी की गई है. गोली से पेट के अंदरूनी अंगों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. उनके पेट से गोली नहीं निकालने का फैसला वरिष्ठ चिकित्सकों के एक समूह ने इस बात को ध्यान में रखते हुए लिया कि इससे उनके उतकों को अधिक नुकसान हो सकता है. गोली मंत्री के दाहिनी कोहनी के जोड़ में भी लगी थी. इस बीच पुलिस ने संदिग्ध अब्दी हुसैन (21) के खिलाफ हत्या के प्रयास और पाकिस्तान दंड संहिता के तहत आतंकवाद के आरोपों और आतंकवाद निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज किया है. इसके साथ ही हुसैन के एक सहयोगी अजीम को भी गिरफ्तार किया गया है जो उसके साथ रैली स्थल पर पहुंचा था. Also Read - J&K Latest News: जम्‍मू-कश्‍मीर के पुंछ में पाकिस्‍तान की फायरिंग में JCO शहीद

चुनावी रैली के दौरान मारी गोली
इकबाल यहां से करीब 80 किलोमीटर दूर स्थित अपने गृह नगर नरोवाल में एक चुनावी रैली को संबोधित करने के बाद रवाना हो रहे थे. तभी हुसैन ने उन पर गोली चलायी जो उनके हाथ और पेट में लगी. हुसैन के गृह मंत्री पर गोली चलाने के तुरंत बाद पीएमएल .. एन के कार्यकर्ताओं ने उसे पकड़ लिया. प्रारंभिक जांच के अनुसार हुसैन धार्मिक संगठन तहरीके लब्बैक यारासुलाल्लाह पाकिस्तान ( टीएलवाईपी ) का है. सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब ने कहा कि गृह मंत्री पर गोली चलाने वाला संदिग्ध टीएलवाईपी का है. हम इस हमले का उद्देश्य जानते हैं लेकिन मैं यह कहना चाहूंगा कि यह पीएमएल .. एन के खिलाफ बहुत ही खतरनाक खेल खेला जा रहा है. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई से कहा संदिग्ध ने जांचकर्ताओं को बताया कि उसने मंत्री पर इसलिए गोली चलायी क्योंकि वह खत्मे नबुवत से संबंधित धारा संविधान से हटाने को लेकर सत्ताधारी पीएमएल .. एन से बदला लेना चाहता था. उन्होंने कहा कि संदिग्ध एक धार्मिक परिवार से है और टीएलवाईपी का कार्यकर्ता है. उन्होंने कहा कि आज हुसैन ने यह कहते हुए बयान दिया है कि उसने इसे अकेले ही अंजाम दिया है क्योंकि पीएमएल .. एन के निर्णय से उसकी धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं. Also Read - मुंबई हमले को भूल नहीं सकता भारत, अब नई नीति के साथ देश आतंकवाद से लड़ रहा है: PM मोदी