इस्लामाबादः पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री और अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के भाई शाहबाज शरीफ पाकिस्तान की सत्तारूढ पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज (पीएमएलएन) के नए प्रमुख बनाए गए हैं. सुप्रीम कोर्ट द्वारा पिछले सप्ताह नवाज शरीफ को पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए भी अयोग्य ठहराए जाने के बाद उन्हें पार्टी प्रमुख चुना गया है. इसके साथ ही पार्टी ने नवाज शरीफ को पार्टी का आजीवन नेता (लीडर फॉर लाइफ) चुना है. इससे पहले सोमवार को ही सूचना और प्रसारण राज्यमंत्री मरियम औरंगजेब ने कहा था कि पीएमएल एन मंगलवार को पार्टी के नए अध्यक्ष का नाम घोषित करेगी. उन्होंने कहा कि शाहबाज शरीफ इस पद के लिए सबसे सक्षम और उचित व्यक्ति हैं. शाहबाज जून 2013 से पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री और नवाज शरीफ के छोटे भाई हैं. नवाज शरीफ को पनामा पेपर्स प्रकरण को लेकर पिछले साल जुलाई में प्रधानमंत्री से इस्तीफा देना पड़ा था.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को उनकी पार्टी पीएमएल-एम के अध्यक्ष पद से हटा दिया था. कोर्ट ने यह भी आदेश दिया था कि नवाज शरीफ के अध्यक्ष रहते हुए लिए गए सभी फैसले रद्द किए जाएं. कोर्ट ने चुनाव अधिनियम के उल्लंघन की याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए यह फैसला सुनाया. कोर्ट ने कहा कि जो व्यक्ति संविधान के अनुच्छेद 62 और 63 को पूरा नहीं करता है वह किसी भी राजनीतिक दल के अध्यक्ष का पद भी नहीं रख सकता. अदालत ने कहा कि अपात्र व्यक्ति पार्टी का अध्यक्ष नहीं हो सकता है. सुप्रीम कोर्ट ने नवाज शरीफ द्वारा पार्टी के प्रमुख के रूप में किए गए सभी फैसले को भी रद्द कर दिया है.

कोर्ट ने पाकिस्तान के चुनाव आयोग को भी निर्देश दिया है कि नवाज शरीफ द्वारा चुनावों के लिए दिए गए टिकटों को भी रद्द किया जाए. पाकिस्तान में इस समय पीएमएल-ए पार्टी सत्ता में है. अगले महीने यहां चुनाव होने जा रहे हैं. पार्टी को अब फिर नए सिरे से टिकटों का वितरण करना होगा. सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से यह भी कहा है कि पार्टी के दस्तावेजों में से अध्यक्ष के कॉलम से नवाज शरीफ का नाम हटा दिया जाए.