रामल्ला (पश्चिमी तट): फिलीस्तीन ने महात्मा गांधी के ‘विरासत और मूल्यों’ को सम्मानित करने के उद्देश्य से उनकी 150वीं जयंती पर यादगारी डाक टिकट जारी किया. फिलीस्तीन प्राधिकरण (पीए) के दूरसंचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री इशाक सदर ने मंगलवार को पीए में भारत के प्रतिनिधि सुनील कुमार की मौजूदगी में टिकट जारी किया.

महात्मा गांधी के अहिंसा के सिद्धांतों को रेखांकित करते हुए सदर ने कहा, ‘फिलीस्तीन द्वारा स्मारक टिकट जारी करना गांधी की याद, विरासत और मूल्यों के सम्मान में है जिन्होंने मानवता का मार्गदर्शन किया और भविष्य में भी करते रहेंगे.’

नेपाल में गांधी की पहली प्रतिमा का किया गया अनावरण, अन्य जगहों पर आयोजित की गई सभा

कुमार ने कहा कि भारत के ‘राष्ट्रपिता’ के सम्मान में टिकट जारी करना दोनों देशों के बीच मजबूत ऐतिहासिक, राजनीतिक और सांस्कृतिक संबंधों को दर्शाता है. उन्होंने मानवता के विकास में गांधी के महत्वपूर्ण योगदान पर भी प्रकाश डाला और कहा कि शांति, स्वतंत्रता, सम्मान और सहिष्णुता की शिक्षा पर उनके उपदेश आज भी पूरी दुनिया में सम्मान पाते हैं.

गांधी जयंती 2019 : जानना चाहतें है राष्ट्रपिता के जीवन के बारे में कुछ भी तो यहां करें क्लिक

आपको बता दें कि दुनिया भर में महात्मा गांधी को मानने वाले लोग उनकी जयंती पर उनको ट्रिब्यूट दे रहे हैं. इसी कड़ी में  महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर बुधवार को काठमांडू स्थित भारतीय दूतावास परिसर में उनकी प्रतिमा का अनावरण किया गया. नेपाल में महात्मा गांधी की यह पहली प्रतिमा है. नेपाल में भारतीय राजदूत मंजीव सिंह पुरी ने गांधी प्रतिमा का अनावरण किया. इस मौके पर नेपाल के पूर्व मंत्री, संसद सदस्य, भारतीय दूतावास के कर्मचारी, कारोबारी समुदाय एवं सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी, प्रोफेसर, कलाकार और पत्रकार मौजूद रहे.

 

(इनपुट-भाषा)