यरूशलम: फलस्तीन प्राधिकरण (पीए) ने कुछ ही घंटों बाद वह समझौता रद्द कर दिया है, जिसके तहत इजराइल ने कहा था कि वह कोविड-19 टीके की करीब 10 लाख खुराकें फलस्तीन भेजेगा. इसके बदले फलस्तीन इस साल बाद में टीके की इतनी ही खुराकें इजराइल को वापस करता.Also Read - 12 से 17 साल के बच्चों को दी जाएगी मॉडर्ना की कोरोना वैक्सीन! यूरोपियन मेडिसिन एजेंसी ने की सिफारिश

फलस्तीन ने कहा कि इजराइल द्वारा वेस्ट बैंक के लिये जहाज में लादी जा रहीं खुराकों के इस्तेमाल की अवधि बहुत जल्दी खत्म होने वाली है और यह उनके मानकों को पूरा नहीं करती. इससे पहले इजराइल ने भी समझौते की घोषणा करते हुए कहा था कि जल्द ही इनके इस्तेमाल की अवधि खत्म हो जाएगी. हालांकि उसने इसकी तिथि के बारे में नहीं बताया था. Also Read - Vaccination For Pregnant Women in MP: मध्य प्रदेश में आज से प्रेग्नेंट महिलाओं को भी लग रही वैक्सीन, बरती जा रही ये सावधानी

इजराइल अपनी आबादी के 85 प्रतिशत वयस्कों का टीकाकरण कर पांबदियों को हटा चुका है, लेकिन वह टीके की खुराकें वेस्ट और गाजा में रह रहे 45 लाख फलस्तीनियों से साझा नहीं करने पर आलोचना का सामना कर रहा था. Also Read - Corona Virus: महाराष्ट्र में 6,017 नए मामले आए, 22 फरवरी के बाद सबसे कम

इस समझौते की घोषणा रविवार को सत्ता संभालने वाली इजराइल की नयी सरकार ने की थी. इजराइली सरकार ने कहा कि वह फाइजर टीके की खुराक फलस्तीन प्राधिकरण को देगा जिनके इस्तेमाल की मियाद (एक्सपायरी डेट) जल्द समाप्त हो रही है. इसके बदले में फलस्तीन प्राधिकरण इतनी ही संख्या में टीके की खुराक सितंबर या अक्टूबर में दवा कंपनियों से मिलने पर इजराइल को हस्तांतरित करेगा.