नई दिल्लीः भारत में कई आतंकी हमलों का मास्टरमाइंड मसूद अजहर लाइलाज बीमारी से पीड़ित है. वह पिछले दो-ढाई साल से बिस्तर पर पड़ा हुआ है. हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद का सरगना रीढ़ की हड्डी और किडनी संबंधी बीमारी से जूझ रहा है. उसका इलाज रावलपिंडी के मुरू में कंबाइन्ड मिलिट्री हॉस्पिटल में चल रहा है. मसूद अजहर भारत में एक सबसे ज्यादा वांछित आतंकी है. भारत सरकार उसे संयुक्त राष्ट्र के अंतरराष्ट्रीय आतंकियों की सूची में शामिल करवाना चाहती है लेकिन चीन उसमें अड़ंगा लगाता रहा है.

मसूद का आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद पहले से ही संयुक्त राष्ट्र की आतंकवादी संगठनों की सूची में शामिल है. 1999 में हाईजैक किए गए एयर इंडिया के विमान आईसी-814 के बदले मसूद अजहर को रिहा किया गया था. उस वक्त वह भारतीय जेल में कैद था. 2002 में संसद भवन पर हमले में दिल्ली की विशेष अदालत ने अजहर, जैश के कमांडर गाजी बाबा और तारिक अहमद को भगौड़ा अपराधी घोषित किया था. संसद पर हमले के मामले में पाकिस्तान ने कुछ समय के लिए उसे अरेस्ट भी किया गया था लेकिन साक्ष्यों के अभाव में उसे रिहा कर दिया गया. 2016 में पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले में भी जैश ए मोहम्मद के इस सरगना का नाम आया था. इस हमले के आरोप पत्र में उसे मास्टरमाइंड बताया गया है.