वाशिंगटन: फर्जी विश्वविद्यालय का इस्तेमाल कर किए गए ‘पे टू स्टे’ स्टिंग ऑपरेशन  में अभी तक गिरफ्तार 130 छात्रों को केवल सिविल आव्रजन आरोपों का सामना करना होगा. द डेट्राइट फ्री प्रेस की गुरुवार की रपट के मुताबिक- इमीग्रेशन एंड कस्टम इंफोर्समेंट(आईसीई) की प्रवक्ता करिसा कुटरैल ने कहा ‘हमने सिविल आव्रजन आरोपों पर 130 विदेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया है.’ उन्होंने कहा कि अभी इस मामले में और गिरफ्तारियां भी की जा सकती हैं.

छात्रों को निर्वासन का सामना करना होगा
करिसा कुटरैल का कहना है कि जो छात्र जानबूझ कर इस घोटाले में शामिल हुए और वे जानते थे कि यह वास्तविक शैक्षणिक कार्यक्रम नहीं है, उन्हें निर्वासन का सामना करना होगा. आईसीई सर्विस के मुताबिक, छात्रों के नियोक्ताओं के रूप में कथित रूप से घोटाला चलाने वाले आठ लोगों को वीजा धोखाखड़ी और लाभ के लिए दूसरे देशों के लोगों को शरण देने की साजिश रचने के आपराधिक आरोपों पर पांच साल की अधिकतम सजा का सामना करना होगा.

अमेरिका में गिरफ्तार छात्रों की मदद के लिए भारतीय दूतावास की हॉटलाइन सेवा शुरू, ऐसे करें संपर्क

‘पे टू स्टे’ घोटाला
संघीय अभियोजकों द्वारा अदालत में दाखिल दस्तावेज में कहा गया है कि तकरीबन 600 विद्यार्थियों ने फर्जी संस्थान फार्मिगटन विश्वविद्यालय में दाखिला लिया. आव्रजन अधिकारियों ने वीजा धोखाधड़ी के छात्रों को पकड़ने के लिए यह विश्वविद्यालय बनाया था, जिसके लिए स्टिंग ऑपरेश्न किया गया. अभियोजकों ने इसे ‘पे टू स्टे’ घोटाला करार दिया, क्योंकि छात्रों ने फर्जी विश्वविद्यालय से दस्तावेज पाने के लिए नियोक्ताओं को भुगतान किया, जो उन्हें बिना कक्षा में उपस्थित हुए छात्र वीजा पर यहां रुकने में सक्षम बनाता था. अमेरिकी तेलुगू संघ के कानूनी सहायता कार्यक्रम सेवा के अध्यक्ष शिव कुमार ने बताया कि वे प्रभावित छात्रों को मदद मुहैया कराने के लिए काम कर रहे हैं.

भारतीय दूतावास ने जारी किए 24/7 हेल्प लाइन नंबर

अमेरिकी तेलुगू संघ के कानूनी सहायता कार्यक्रम सेवा के अध्यक्षकुमार ने कहा कि उन्होंने भारत के राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला से मुलाकात कर छात्रों की मदद के लिए कहा है. वहीँ अमेरिका में गिरफ्तार किए गए छात्रों की मदद के लिए भारतीय दूतावास ने हॉटलाइन सेवा शुरू की है. कई स्टूडेंट्स के मित्रों और परिवार के सदस्यों ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी मदद की गुहार लगाई है. (इनपुट एजेंसी)