वाशिंगटन : सिंगापुर में किम जोंग उन से मुलाक़ात और समझौते की सफलता से उत्साहित अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपनी पीठ थपथपाते हुए कहा कि एशिया के लोग अब सुरक्षित महसूस करते हैं, उन्होंने कहा कि पूरे विश्व के लोग मेरे राष्ट्रपति बनने के पहले की तुलना में अब अधिक सुरक्षित महसूस करते हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा विश्व ने काफी संघर्ष का सामना किया है और अब वह सुरक्षित एवं शांतिपूर्ण भविष्य का हकदार है.ट्रम्प ने तीन मिनट का एक वीडियो सन्देश जारी कर ये बाते कहीं. Also Read - COVID-19 vaccination in India: भारत में दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू, लगभग दो लाख कोरोना योद्धाओं को दी गई पहली खुराक; बड़ी बातें

ट्रंप ने शुक्रवार को जारी एक वीडियो संदेश में कहा, ‘हमारे विश्व ने जरूरत से ज्यादा संघर्ष देखा है. अगर शांति की कोई संभावना है, अगर परमाणु संघर्ष के खतरे को समाप्त करने की कोई संभावना है तो हमें हर कीमत पर इसे हासिल करना चाहिए. अमेरिकी लोग, कोरियाई लोग और विश्वभर के लोग सुरक्षित एवं शांतिपूर्ण भविष्य के हकदार हैं.’ Also Read - Haryana SSC Village Secretary Written Examination Canceled: हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने ग्राम सचिव के पदों के लिए हुई लिखित परीक्षा को रद्द किया

अपने तीन मिनट के वीडियो संदेश में ट्रंप ने सिंगापुर में उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन के साथ हुई अपनी बातचीत का भी जिक्र किया. ट्रंप ने कहा कि वो इस सप्ताह की शुरुआत में सिंगापुर से ऐतिहासिक शिखर वार्ता कर लौटे हैं जहां उन्होंने उत्तर कोरिया के प्रमुख किम जोंग उन से मुलाकात की. इस वार्ता से अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच एक नए रिश्ते का आगाज हुआ है और इसने सभी कोरियाई लोगों (उत्तर एवं दक्षिण) के लिए भविष्य के मार्ग खोल दिए हैं. उन्होंने कहा कि इस वार्ता ने पूर्व प्रशासन के असफल दृष्टिकोण को भी समाप्त किया. गौरतलब है कि उत्तर कोरियाई नेता के साथ किसी भी अमेरिकी राष्ट्रपति की यह पहली बैठक थी. Also Read - Vaccination Suspended in Maharashtra: महाराष्ट्र में भी रोका गया कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रोग्राम, जानें अब वैक्सीन लगेगी या नहीं..?

ट्रंप ने कहा, उनकी बातचीत बेहद स्पष्ट, ईमानदार और काफी लाभकारी रही. उन्होंने कहा कि हम कुछ ऐसा करेंगे जो बेहतरी के लिए ही होगा. ट्रम्प के मुताबिक़ शिखर वार्ता के अंत में दोनों देशों ने एक संयुक्त समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं जिसमें किम ने कोरियाई प्रायद्वीप में पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण की अपनी अविश्वसनीय प्रतिबद्धता को दोहराया है. उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण की ओर यह एक कदम है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा ‘ मैं अक्सर कहता हूं कि उत्तर कोरिया परमाणु निरस्त्रीकरण, बेहद अच्छे शब्द हैं.’

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि वार्ता के दौरान, अमेरिका ने नई समृद्धि, सुरक्षा और अवसर पर जोर दिया जिसका परमाणु निरस्त्रीकरण के बाद उत्तर कोरिया इंतजार कर रहा है. उन्होंने कहा जैसा कि मैंने सिंगापुर में कहा था, किम के पास अपने लोगों को एक अद्भुत भविष्य देने का मौका है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘कोई भी युद्ध कर सकता है, लेकिन सबसे साहसिक व्यक्ति ही शांति स्थापित कर सकता है. विश्व ने काफी संघर्ष देखा है, अगर वहां शांति की कोई संभावना है, अगर परमाणु संघर्ष समाप्त करने की कोई संभावना है, तो हमें हर कीमत पर इसे हासिल करना चाहिए.

उन्होंने कहा, अमेरिका के लोगों, कोरिया के लोगों और विश्वभर के लोग सुरक्षित एवं शांतिपूर्ण भविष्य के हकदार हैं और इसलिए ही हमने संयुक्त बयान पर हस्ताक्षर किए हैं. ट्रंप ने कहा कि आने वाले दिनों में विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ परमाणु निरस्त्रीकरण समझौते के क्रियान्वयन के लिए उत्तर कोरियाई लोगों के साथ सीधे तौर पर कार्य करेंगे. इस बीच उनपर प्रतिबंध लागू रहेंगे. उन्होंने कहा, ‘हमें पता है कि आगे एक बड़े समझौते पर काम करना है, लेकिन शांति उन प्रयासों को हमेशा मूल्यवान बना देती है. हम काफी मेहनत से काम कर रहे हैं. मैंने दौरा किया. उसका हर एक सेकंड कीमती रहा. सिंगापुर वार्ता को शानदार समारोह बताते हुए ट्रम्प ने दावा किया कि ‘एशिया के लोग अब सुरक्षित महसूस करते हैं, पूरे विश्व के लोग मेरे राष्ट्रपति बनने के पहले की तुलना में अब अधिक सुरक्षित महसूस करते हैं.’
( इनपुट एजेंसी)