फिनिक्स: फिनिक्स में एक निजी अस्पताल में कम से दम 10 साल से अर्द्ध बेहोशी की हालत में पड़ी महिला के हाल ही में एक बच्चे को जन्म देने की बात सामने आई है जिसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है. राज्य के गवर्नर कार्यालय ने इस स्थिति को ”बेहद परेशान करने वाला” बताया है. केपीएचओ एवं केटीवीके टेलीविजन स्टेशनों की समाचार वेबसाइट एजफैमिली डॉट कॉम ने पिछले बृहस्पतिवार को सबसे पहले खबर दी थी कि हेसिंडा स्वास्थ्य सुविधा केंद्र में रह रही एक महिला ने 29 दिसंबर को बच्चे को जन्म दिया, जहां का स्टाफ इस बात से अंजान था कि वह गर्भवती है.

फिनिक्स के दो अन्य चैनलों ने भी बाद में इसी तरह की खबर दिखाई. कुछ खबरों के मुताबिक महिला करीब 10 साल पहले डूबने से बाल-बाल बची थी. उसकी पहचान नहीं बताई गई और यह भी जानकारी नहीं है कि उसका कोई परिवार या अभिभावक है. खबरों में जिन सूत्रों का हवाला दिया गया उनके मुताबिक जब एक नर्स उसके कमरे में दाखिल हुई तब महिला दर्द से कराह रही थी और बच्चे का सिर बाहर आते हुए नजर आया.

SO ने प्रेग्नेंट लेडी को गोद में उठाकर पहुंचाया हॉस्पिटल, बची जान, बच्चे को दिया जन्म

उन्होंने बताया कि बच्चा जीवित एवं स्वस्थ है. फिनिक्स पुलिस विभाग के एक प्रवक्ता सार्जेंट टॉमी थॉम्पसन ने सिर्फ इतना बताया कि मामले की जांच चल रही है लेकिन इसकी पुष्टि नहीं की कि क्या जांच यौन अपराध के लिहाज से होगी.