ब्रासीलिया: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को 11वें ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेने ब्राजील की राजधानी पहुंच गए हैं. बुधवार को उनकी रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ मुलाकात प्रस्तावित है.

 

वह ब्रिक्स व्यापार फोरम के समापन समारोह, सांस्कृतिक प्रस्तुती कार्यक्रम और ब्राजील के राष्ट्रपति द्वारा आयोजित भोज में शामिल होंगे. 11 ब्रिक्स सम्मेलन का थीम ‘नवाचार भविष्य के लिए आर्थिक वृद्धि’ है. भारत से एक बड़ा व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल भी वहां ब्रिक्स व्यापार फोरम में हिस्सा लेगा. 14 नवंबर को, सभी नेता एक प्रतिबंधित सत्र में हिस्सा लेंगे, जोकि एक बंद दरवाजे के अंदर चलने वाला सत्र होगा. मोदी बाद में ब्रिक्स प्लेनरी बैठक में भाग लेंगे, जहां नेता अपने देश के आर्थिक विकास के लिए अंतर-ब्रिक्स सहयोग के बारे में चर्चा करेंगे.

ब्रिक्स संयुक्त घोषणा पत्र होगा जारी
इसबीच व्यापार और निवेश एजेंसियों के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर होंगे, जिसके बाद एक ब्रिक्स संयुक्त घोषणा पत्र जारी किया जाएगा. मोदी ने इससे पहले मंगलवार को ट्वीट किया था कि मैं इस वर्ष 13 और 14 नवंबर को ब्राजील में होने वाले ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लूंगा. सम्मेलन का थीम ‘नवाचार भविष्य के लिए आर्थिक वृद्धि’ है. मैं ब्रिक्स नेताओं के साथ विविध विषयों पर व्यापक सहयोग के संबंध में चर्चा को लेकर आशान्वित हूं.”

ब्रिक्स व्यापार फोरम को संबोधित करेंगे पीएम मोदी
उन्होंने कहा था कि ब्रिक्स सम्मेलन से इतर, वह ब्रिक्स व्यापार फोरम को संबोधित करेंगे और इसके साथ ब्रिक्स व्यापार परिषद और न्यू डेवलपमेंट बैंक के अधिकारियों से संवाद करेंगे. ब्रिक्स विश्व की पांच उभरती अर्थव्यवस्था के एक समूह है. इसमें ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं. (इनपुट एजेंसी)