कोलंबो: श्रीलंका ने भारत के पीएम को एक ऐसा गिफ्ट दिया है, जिसे तैयार करने में दो साल का समय लगा. श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरीसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को समाधि की मुद्रा में भगवान बुद्ध की प्रतिमा की प्रतिकृति उपहार में दी. पीएम मोदी के ‘खास मित्र’ श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरीसेना की ओर से ये समाधि की मुद्रा में बुद्ध की प्रतिमा की प्रतिकृति उपहार में मिली. दोनों नेताओं ने रविवार को यहां मुलाकात की थी. खास बात ये हैं कि इस प्रतिकृति को तैयार करने में दो साल का वक्‍त लगा.

पश्चिम बंगाल में जारी हिंसा पर केंद्र ने ममता सरकार को लगाई लताड़, भेजी ये सख्‍त एडवाइजरी

पीएमओ ने ट्वीट किया, ”समाधि बुद्ध की प्रतिमा की यह प्रतिकृति सफेद सागवान का इस्तेमाल कर हाथ से बनाई गई है. इस श्रेष्ठ कृति को पूरा करने में लगभग दो साल लगे. प्रतिमा में बुद्ध जिस मुद्रा में हैं उसे ध्यान मुद्रा के तौर पर जाना जाता है.

पश्‍चिम बंगाल में टीएमसी-बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प में 8 लोग मारे गए, कई घायल 

ट्वीट में कहा गया है, एक खास मित्र से एक खास उपहार मिला है. राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरीसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को समाधि बुद्ध की प्रतिमा दी है. इसे अनुराधापुर युग की सबसे उत्कृष्ट कृतियों में से एक माना जाता है. मूल प्रतिमा चौथी और 7वीं ईसवी के बीच बनाई गई थी.

मोदी एक दिवसीय यात्रा पर रविवार को श्रीलंका पहुंचे और उन्होंने सिरीसेना से मुलाकात की और आपसी हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की. बाद में राष्ट्रपति आवास में मोदी का रस्मी स्वागत किया गया. इस दौरान श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना भी मौजूद थे. सिरिसेना हाथ में छाता लिए दिखाई दिए. छाते से वह खुद को और प्रधानमंत्री मोदी को बारिश से बचा रहे थे.

भारत का पाक से अनुरोध, PM नरेंद्र मोदी के प्‍लेन को अपने वायुक्षेत्र से गुजरने दे

द्वीपीय देश में अप्रैल में ईस्टर के दिन हुए बड़े आतंकवादी हमले के बाद श्रीलंका की यात्रा करने वाले मोदी पहले विदेशी नेता हैं. इन हमलों में 350 से ज्यादा लोग मारे गए थे. हमलों के मद्देनजर मोदी की इस यात्रा को श्रीलंका के साथ एकजुटता से खड़े रहने के भारत के संकेत के रूप में माना जा रहा है.

अमिताभ बच्चन ने अपने दिवंगत सचिव शीतल जैन की याद में लिखा भावुक ब्लॉग