यामानशी (जापान): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को माउंट फूजी के पास एक खूबसूरत रिजॉर्ट में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ अनौपचारिक बातचीत की. इसके बाद मोदी और आबे औद्योगिक रोबोट बनाने वाली कंपनी ‘फानुक कॉरपोरेशन’ के कारखाने गए. मोदी 13वें भारत- जापान वार्षिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए शनिवार की शाम को यहां पहुंचे. मोदी ने कहा कि दोनों देशों के बीच भागीदारी बुनियादी रूप से बदली है और अब यह एक ‘विशेष रणनीतिक एवं वैश्विक भागीदारी’ के रूप में मजबूत हुई है. Also Read - PM नरेंद्र मोदी ने संकट के समय लोगों से क्यों की रोशनी करने की अपील, शास्त्रों में है महत्व, रामायण में भी है ये बात

रविवार को शुरू हो रहे दो दिन के सम्मेलन में आपसी रिश्तों में हुई प्रगति की समीक्षा की जाएगी और द्विपक्षीय संबंधों के रणनीतिक आयामों को और गहरा करने पर चर्चा होगी. इससे पहले दिन में मोदी के होटल माउंट फूजी पहुंचने पर आबे ने उनका स्वागत किया. मोदी ने ट्वीट किया कि आबे से मिलकर काफी खुशी हुई.’ दोनों नेता बाग में साथ साथ घूमे. मोदी ने आबे को कलात्मक दरियां और पत्थर के दो अलंकृत कटोरे और कुछ अन्य उपहार भेंट किए. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया कि ‘आधुनिक प्रौद्योगिकी में हमारे बीच सहयोग को आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिन्जो आबे फानुक कॉरपोरेशन के कारखाने गए. यह दुनिया में औद्योगिक रोबोट की सबसे बड़ी कंपनी है.’ दोनों नेताओं ने औद्योगिक रोबोट के काम करने के तरीकों पर कई चित्रों को देखा. Also Read - कोरोना वायरस से अमेरिका में एक दिन में 1169 लोगों की मौत, 6000 के पार पहुंचा मृतकों का आंकड़ा

अधिकारियों ने बताया कि मोटर असेंबलिंग कारखाने में दोनों नेताओं ने देखा कि कैसे एक रोबोट ने मात्र 40 सेकेंड में मोटर को असेंबल कर दिया. फानुक जापान और भारत सहित अन्य देशों में स्वचालन और दक्षता के जरिए विनिर्माण में योगदान देती है. बाद में शाम को आबे ने यामानशी में कावागुची झील के पास अपने निजी घर पर मोदी के लिए रात्रि भोज आयोजित किया. यह पहला मौका है जबकि आबे ने किसी विदेशी राजनीतिक नेता को यामानशी क्षेत्र के नारुसावा गांव में अपने अवकाशकालीन आवास पर आमंत्रित किया है. मोदी ने ट्वीट किया कि अपने घर पर गर्मजोशी से स्वागत के लिए प्रधानमंत्री शिन्जो आबे का आभार. मैं इससे काफी सम्मानित महसूस कर रहा हूं. जापान के प्रधानमंत्री ने चॉपस्टिक के जरिये जापानी तरीके से खाना भी सिखाया.’