PNB Scam Case: पंजाब नेशनल बैंक (PNB) से करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी के मामले में वांटेड हीरा कारोबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) के भारत प्रत्यर्पण (Extradition) का रास्ता लगभग साफ हो गया है. लंदन की अदालत ने Nirav Modi के भारत प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी है. लंदन की अदालत ने मानसिक सेहत को लेकर की गई नीरव मोदी की अपील को खारिज कर दी. Also Read - भारत आएगा भगोड़ा कारोबारी नीरव मोदी, ब्रिटेन के गृह मंत्रालय ने दी प्रत्यर्पण को मंजूरी

कोर्ट ने उसके प्रत्यर्पण को हरी झंडी देते हुए कहा है कि नीरव मोदी के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं और वह दोषी साबित हो सकता है. हालांकि नीरव मोदी इस फैसले के खिलाफ ऊपरी अदालत में अपील कर सकता है. Also Read - PNB Scam: भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की रिमांड 7 जनवरी तक बढ़ाई गई

मालूम हो कि नीरव मोदी को प्रत्यर्पण वारंट पर 19 मार्च 2019 को गिरफ्तार किया गया था और प्रत्यर्पण मामले के सिलसिले में हुई कई सुनवाइयों के दौरान वह वॉन्ड्सवर्थ जेल से वीडियो लिंक के जरिये शामिल हुआ था.

जमानत को लेकर उसके कई प्रयास मजिस्ट्रेट अदालत और उच्च न्यायालय में खारिज हो चुके हैं,क्योंकि उसके फरार होने का जोखिम है. उसे भारत में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय द्वारा दर्ज मामलों के तहत आपराधिक कार्यवाही का सामना करना होगा. इसके अलावा कुछ अन्य मामले भी उसके खिलाफ भारत में दर्ज हैं.

(इनपुट; ANI, भाषा)