पेरिस: फ्रांस की राजधानी पेरिस में हुए हमले के सिलसिले में जांचकर्ता आज अपनी तहकीकात का दायरा बढ़ाकर अपनी तफ्तीश में चेचन्या में जन्मे 20 वर्षीय युवक को मदद मुहैया कराने की संभावना के कोण को भी शामिल करेंगे. खमज़त अजीमोव नाम के इस फ्रांसीसी युवक ने शनिवार को मध्य पेरिस में चाकू से हमला कर दिया था. इसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और चार अन्य गंभीर रूप से जख्मी हो गए.Also Read - Illegal Arms Factory: आसनसोल में अवैध हथियार फैक्ट्री का भंडाफोड़, भारी मात्रा में हथियार जब्त; दो हिरासत में

पुलिस ने बाद में इस युवक को ढेर कर दिया. इस हमले की जिम्मेदारी खूंखार आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है. जांच दल के करीबी एक सूत्र ने बताया कि अज़ीमोव पूर्वी फ्रांस के स्त्रासबोर्ग में अपने परिवार के साथ पला- बढ़ा था. इस इलाके में चेचन्या समुदाय के शरणार्थी बड़ी संख्या में रहते हैं. Also Read - खुद को मकान मालकिन बताकर घर में रहने लगी 'चोर' महिला, पुलिस ने हेलीकॉप्टर से लगाया पता, फिर...

सूत्र के मुताबिक पेरिस में रहने वाले उसके मां- बाप को हिरासत में ले लिया गया है. स्त्रासबोर्ग में उसके एक दोस्त को भी हिरासत में लिया गया है. आईएस की प्रोपेगेंडा एजेंसी अमाक ने एक वीडियो जारी करके रविवार को हमले की जिम्मेदारी ली. फुटेज में एक व्यक्ति को दिखाकर दावा किया गया है अज़ीमोव जिहादी समूह के प्रति निष्ठा जता रहा है. Also Read - 50 पैसे में बिक रहीं टी-शर्ट खरीदने के लिए उमड़ी हजारों की भीड़, पुलिस को बंद करानी पड़ी दुकान

एक सूत्र ने बताया कि पिछले साल उससे पूछताछ की गई थी ‘क्योंकि वह एक ऐसे व्यक्ति के संपर्क में था जिसके उस व्यक्ति से संबंध थे जो सीरिया गया था.’

(इनपुट-भाषा)