वॉशिंगटन: यूएस प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि यदि सिंगापुर में 12 जून को होने वाली बैठक अच्छी रही तो वह उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग – उन को व्हाइट हाउस आने का न्योता दे सकते हैं. सिंगापुर में 12 जून को होने वाली बैठक के संबंध में जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ चर्चा करने के बाद ट्रंप ने ये बात कही. हालाकि, ट्रंप ने यह स्पष्ट किया कि यदि उनके लक्ष्य पूरे नहीं होते हैं तो वह अब भी इस बैठक से पीछे हट सकते हैं. Also Read - Covid-19 Vaccine News Today 28 August 2020: अमेरिका में वैक्सीन का उत्पादन शुरू, जल्द लगाए जाएंगे टीके

गर्मजोशी से भरा पत्र
मीडियाकर्मियों ने जब ट्रंप ने सवाल किया कि वह उत्तर कोरियाई शासक को व्हाइट हाउस आने का न्योता देंगे या उन्हें मार – ए – लागो में बुलाएंगे, यूएस के प्रेसिडेंट ने कहा, ”हम व्हाइट हाउस से शुरुआत करेंगे.” किम की ओर से पिछले सप्ताह ट्रंप को भेजी गई निजी चिट्ठी के बारे में उन्होंने कहा, पत्र सिर्फ अभिवादन था. यह सच में बहुत अच्छा था. संभवत : मैं उसे सार्वजनिक करने की अनुमति प्राप्त कर सकता हूं. बेहद गर्मजोशी से भरा पत्र था.”

पीछे हटने के लिए भी पूरी तरह तैयार हूं
प्रेसिडेंट ट्रंप ने कहा , ”मैं पीछे हटने के लिए पूरी तरह तैयार हूं. ऐसा हो सकता है. संभवत : इसकी जरूरत नहीं पड़ेगी. आशा करता हूं कि पीछे हटने की जरूरत नहीं होगी, क्योंकि मेरा वाकई मानना है कि किम जोंग – उन सचमुच कुछ ऐसा करना चाहते हैं, जो उनके लोगों, उनके परिजन और खुद उनके लिए बेहतर होगा.”

मीटिंग किम जोंग के साथ फोटो खिंचवाने के अवसर से कहीं अधिक
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का कहना है कि 12 जून को उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ बैठक फोटो खिंचवाने के अवसर से कहीं अधिक है. ट्रंप ने कहा कि यह बैठक आगे आने वाली कई बैठकों की प्रक्रिया शुरू होने की दिशा में पहला कदम है. ट्रंप ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की मौजूदगी में व्हाइट हाउस में कहा, ”मुझे लगता है कि यह सिर्फ एक बैठक तक सीमित नहीं रहेगा.”

एक, दो, तीन तक सिंगापुर में रहेंगे
यह पूछने पर कि वह किम जोंग के साथ मुद्दों पर चर्चा करने के लिए कितने दिनों तक सिंगापुर में रहेंगे? इसके जवाब में ट्रंप ने कहा, एक, दो, तीन यह इस पर निर्भर करता है कि क्या होता है. उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि मुझे तैयार रहना पड़ेगा. यह रुख पर निर्भर करता है.”

जल्द पता चल जाएगा किम गंभीर है या नहीं
ट्रंप ने कहा कि उन्हें बहुत जल्दी पता चल जाएगा कि क्या किम जोंग अमेरिकी मांगों को लेकर गंभीर है या नहीं. इन मांगों में कोरियाई प्रायद्वीप का पूर्ण निरस्त्रीकरण भी शामिल है. उन्होंने कहा कि वह काफी लंबे समय से इस बैठक की तैयारी कर रहे थे. (इनपुट-एजेंसी)