वॉशिंगटन: भारतीय अमेरिकी समुदाय के एक नेता ने दावा किया कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ अमेरिका में प्रदर्शन के दौरान पाकिस्तान समर्थक तत्व अपने गुप्त एजेंडा को कार्यान्वित करने के इरादे के साथ घुस आए थे. भारतीय-अमेरिकी समुदाय के नेता ने आरोप लगाया कि वॉशिंगटन डीसी में हाल ही में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन हुआ था. प्रदर्शन के दौरान दिख रहे पोस्टरों से यह साफ हो रहा था कि प्रदर्शनकारियों के बीच पाकिस्तान समर्थित तत्व मौजूद हैं.

भारतीय-अमेरिकी समुदाय के नेता अदपा प्रसाद ने दावा किया कि कम से कम दो पाकिस्तानी अमेरिकी व्यक्ति सीएए विरोधी प्रदर्शन के मुख्य आयोजकों में शामिल थे. पिछले साल दिसंबर में भारत में व्यापक विरोध प्रदर्शन के बीच सीएए लागू हो गया.

प्रसाद ने बताया, ”वॉशिंगटन डीसी में कश्मीरी अलगाववादी प्रदर्शन के समन्वयक रह चुके पाकिस्तानी-अमेरिकी कार्यकर्ता दरख्शां राजा और पाकिस्तान-अमेरिकी मुस्लिम कार्यकर्ता खुदाई तनवीर यहां सीएए के खिलाफ प्रदर्शन आयोजित करने वालों में शामिल थे.”

प्रसाद और उनकी टीम ने सीएए विरोधी प्रदर्शन की तस्वीरें और वीडियो साझा किए हैं. इस प्रदर्शन में 500 से ज्यादा भारतीय-अमेरिकी ने हिस्सा लिया. प्रसाद ने दावा किया कि इनमें से एक पोस्टर में ऊर्दू में लिखा था, ”हंस के लिया है पाकिस्तान, लड़ के लेंगे हिंदुस्तान.”

प्रसाद ने कहा कि यह एकदम बुरी बात है कि आईएसआई समर्थित और पाकिस्तान समर्थित तत्व इस प्रदर्शन का इस्तेमाल अपने छुपे हुए एजेंडे के लिए कर रहे हैं. प्रसाद ने कहा कि इस प्रदर्शन का इस्तेमाल खालिस्तान समर्थक लोग भी कर रहे हैं. उन्होंने कहा ”खालिस्तान समर्थक कार्यकर्ता अर्जुन सेठी भी सीएए विरोध रैली के आयोजकों में से एक था.”