व्हाइट हाउस ने दुनियाभर के जरूरतमंद लोगों को कोविड-19 रोधी टीके नि:शुल्क उपलब्ध कराने की प्रतिबद्धता दोहराते हुए कहा कि ‘क्वाड’ समूह भारत में टीकों की कम से कम एक अरब खुराक के उत्पादन की दिशा में आगे बढ़ रहा है.Also Read - Covid-19 Vaccine For Under 12 Years Old Children: 5 से 12 साल के बच्चों के लिए भी आ गया कोरोना टीका, इस तारीख से लगाए जाएंगे!

ऑस्ट्रेलिया, भारत, जापान और अमेरिका ‘क्वाड’ समूह का हिस्सा हैं. क्वाड के नेताओं ने मार्च में ऑनलाइन शिखर सम्मेलन के दौरान दक्षिण पूर्व एशिया को एक अरब टीके उपलब्ध कराने का संकल्प किया था. Also Read - Corona Vaccine Guideline: कैसे पता चलेगा आपने जो कोरोना वैक्सीन ली, वो असली है या नकली, ऐसे पहचानें

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हमारे क्वाड साझेदार 2022 के अंत तक एशिया क्षेत्र के लिए भारत में कोविड-19 रोधी टीकों की कम से कम एक अरब खुराक के उत्पादन में मदद के लिए काम कर रहे हैं.’’ Also Read - Mumbai News: मुंबई ने बनाया रिकॉर्ड, 1,00,63,497 लोगों को लगाई गई कोरोना वैक्सीन, ये है डिटेल्स

उन्होंने बताया कि अमेरिका अभी तक विश्व को टीकों की 11 करोड़ खुराक दे चुका है. साकी ने कहा, ‘‘किसी भी देश ने इतने टीके नहीं दिए हैं. हमने स्पष्ट कर दिया था कि यह तो शुरुआत है, हमने ‘फाइज़र’ की जो 50 करोड़ खुराक खरीदी हैं उन्हें भी इस माह के अंत में दान देना शुरू करेंगे.’’

अमेरिका के किसी भी अन्य देश की तुलना में वैश्विक स्तर पर ‘‘कहीं अधिक’’ कदम उठाने का दावा करते हुए साकी ने विश्व समुदाय से कार्रवाई तेज करने की अपील की.

उन्होंने कहा, ‘‘हमने जी7 में कुछ कार्रवाई होते देखी. काफी कुछ किए जाने की जरूरत है.’’ साकी ने कहा कि स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, अभी और 11 अरब खुराकों की जरूरत है.